एचएस स्टूडेंट्स के प्रदर्शन के बीच फैसला, सभी विषयों का करा सकेंगे रिव्यू

पहले केवल 2 विषयों का रिव्यू हो सकता था
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : उच्च माध्यमिक की परीक्षा में इस बार लगभग 79,000 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण हुए हैं। काफी संख्या में स्टूडेंट्स पास कराने की मांग पर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच, पश्चिम बंग उच्च माध्यमिक शिक्षा संसद की ओर से निर्णय लिया गया है कि इस बार स्टूडेंट्स सभी विषयों का रिव्यू करा सकेंगे। इसे लेकर नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। सूत्रों का कहना है कि स्टूडेंट्स की सुविधा के लिए ही ये फैसला लिया गया है। यहां उल्लेखनीय है कि इससे पहले केवल दो विषयों में रिव्यू के लिए आवेदन किया जा सकता था। हालांकि इस साल सभी विषयों के लिए स्टूडेंट्स आवेदन कर सकेंगे। जारी नोटिफिकेशन में बताया गया कि आगामी 20 जून से लेकर 5 जुलाई तक काउंसिल की वेबसाइट www.wbchse.nic.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। बताया गया कि ऑनलाइन के अलावा अन्य किसी माध्यम अथवा हार्ड कॉपी में आवेदन स्वीकार नहीं किया जायेगा। इस बारे में पश्चिम बंग उच्च माध्यमिक शिक्षा संसद के अध्यक्ष चिरंजीव भट्टाचार्य ने कहा कि ये प्रणाली केवल इस साल के लिए ही लागू होगी। इधर, जारी नोटिफिकेशन में कहा गया कि स्टूडेंट्स एक समय में पीपीएस (पोस्ट पब्लिशिंग स्क्रूटिनी) अथवा पीपीआर (पोस्ट पब्लिशिंग रिव्यू) करा सकते हैं। उस समय आरटीआई नहीं की जा सकेगी। रिव्यू के नतीजे आने के बाद ही स्टूडेंट्स आरटीआई दाखिल करा सकेंगे। रिव्यू के नतीजे आने के 6 महीने के अंदर स्टूडेंट्स आरटीआई एक्ट के तहत उत्तर पुस्तिका की फोटो कॉपी ले सकेंगे। यहां उल्लेखनीय है कि उच्च माध्यमिक के नतीजे आने के बाद से ही विभिन्न जिलों में अनुत्तीर्ण स्टूडेंट्स प्रदर्शन कर रहे हैं। किसी का कहना है कि सही ढंग से जांच नहीं की गयी है तो किसी का कहना है कि परीक्षा में अच्छे से लिखने के बावजूद कैसे फेल हो सकते हैं। इस कारण ही असंतुष्ट स्टूडेंट्स के लिए रिव्यू व स्क्रूटिनी की तारीखों की घोषणा उच्च माध्यमिक शिक्षा संसद की ओर से की गयी। हालांकि विकास भवन के सामने प्रदर्शन करने वाले स्टूडेंट्स का दावा है कि वे रिव्यू नहीं चाहते और उन्हें हर हाल में पास कराना होगा। इसे लेकर पश्चिम बंग व बंगीय शिक्षा समिति के महासचिव स्वपन मण्डल ने कहा कि सभी विषयों में रिव्यू का जो निर्णय लिया गया है, उसमें स्क्रूटिनी का मौका देने का मतलब है अप्रत्यक्ष तरीके से पास करवाने का मौका देना। स्टूडेंट्स का प्रदर्शन भी टीएमसी के सहयोग से किया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

4 दिन में दूसरी बार ईएम बाइपास के मेट्रोपोलिटन ब्रिज पर दिखी दरार

कोलकाता : ईएम बाइपास के मेट्रोपोलिटन ब्रिज पर बीते 4 दिन में दूसरी बार दरार देखी गयी है। ऐसे में दरार वाले हिस्से को बैरिकेड आगे पढ़ें »

ऊपर