यात्रियों के लिए फिर शुरू हुई दार्जिलिंग टॉय ट्रेन

दार्जिलिंग : पश्चिम बंगाल में दार्जिलिंग के पूर्वी हिमालयी शहर में आने वाले यात्रियों के लिए तीन महीने से अधिक समय बंद टॉय ट्रेन बहाल कर दी गयी है। विक्टोरिया युग की अद्भुत लोको इंजीनियरिंग ट्रेन यूनेस्को की धरोहर श्रेणी में आती है। दार्जिलिंग हेरिटेज रेलवे (डीएचआर) की नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे (एनएफआर) ने यात्रियों के लिए इन पहाड़ियों पर चलने वाली टॉय ट्रेन को सोमवार की सुबह दार्जिलिंग-घूम-दार्जिलिंग मार्ग पर ‘जॉय राइड सर्विसेज’ को शुरू की। डीएचआर तीन भाप वाले इंजन को चलायेगा और सुबह नौ बजकर 25 मिनट से शाम चार बजे के बीच कई तरह के डीजल इंजन से यह मार्ग गुंजायमान होता है। ट्रेन के सभी कोच प्रथम श्रेणी के हैं और और इसकी यात्रा में घूम में रेलवे संग्रहालय का दौरा करना भी शामिल है। डीएचआर को सदियों पुरानी विरासत भाप इंजनों की सेवा दे रहा है। इस टॉय ट्रेन की यात्रा के लिए देश के आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर टिकट बुक की जाती हैं। कोविड-19 के कारण डीएचआर की आवाजाही साढ़े तीन महीने से अधिक समय के लिए स्थगित कर दी गई थी।
दार्जिलिंग में बढ़ी थी कोविड संक्रमितों की संख्या
कुछ दिनों पहले दार्जिलिंग में कोरोना संक्रमितों की संख्या काफी बढ़ गयी थी। इस कारण जिला प्रशासन की ओर से कुछ सावधानियां बरती जा रही थीं। दार्जिलिंग में घूमने आ रहे पर्यटकों के लिए भी कई शर्तें लागू की गयी थीं। कहा जा रहा था कि दार्जिलिंग में आने के लिए सर्वाधिक 3 दिन पुराना आरटीपीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट अथवा डबल वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट आवश्यक है। ऐसे में जो विभिन्न स्थानों से घूमते हुए दार्जिलिंग में आने का सोच रहे थे, वे कुछ समस्या में पड़े थे। इस कारण ‘क्वीन ऑफ हिल्स’ में पर्यटकों की संख्या भी कुछ कम हुई थी। हालांकि पहाड़ का आकर्षण क्या कम किया जा सकता है ? ऐसे में धीरे – धीरे दार्जिलिंग में पर्यटकों की भीड़ पुनः होने लगी।
फिलहाल चलेंगी 6 टॉय ट्रेनें
सोमवार से फिर टॉय ट्रेन चलने लगी। दार्जिलिंग से घूम व घूम से दार्जिलिंग जॉय राइड की शुरुआत हुई है। कुल 6 टॉय ट्रेनें फिलहाल चलेंगी जिनमें 4 स्टीम इंजन व बाकी के 2 डीजल इंजन वाली होंगी। डीजल जॉय राइड में प्रति यात्री खर्च कुछ कम होगा और केवल 1 हजार रुपये लगेंगे। वहीं स्टीम जॉय राइड में लगभग डेढ़ हजार रुपये खर्च होंगे। दार्जिलिंग – हिमालयन रेलवे की ओर से स्वाधीनता दिवस पर ही टाइम टेबल सामने लाया गया। उत्तर-पूर्व सीमांत रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी शुभानन चंद ने कहा, ‘पूरी तरह कोविड नियमों को मानकर ही टॉय ट्रेन की जॉय राइड पुनः शुरू की जा रही है। प्रत्येक यात्री को बाध्यतामूलक तौर पर मास्क व सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना होगा।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शोभन का घर खरीदा वैशाखी ने, रत्ना को सम्मान से घर छोड़ने को कहा

रत्ना ने कहा, हिम्मत है तो निकाल के दिखाये, मरुंगी भी इसी घर में सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : केएमसी के पूर्व शोभन चटर्जी इन दिनों आर्थिक तंगी आगे पढ़ें »

ऊपर