निगम बंटवारे की अनुमति नहीं दी ‘दादू’ ने : फिरहाद हकीम

हावड़ा : हावड़ा के लोगों को मूलभूत सुविधाओं की जरूरत है। वहीं निगम चुनाव के नहीं होने के कारण लोगों को यह सुविधाएं नहीं मिल रही है। यह कहना है राज्य के मंत्री फिरहाद हकीम का। वे उत्तर हावड़ा में आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने राज्यपाल जगदीप धनखड़ पर कटाक्ष करते हुए उन्हें ‘दादू’ पुकारते हुए कहा कि उन्होंने अब तक निगम बंटवारे की अनुमति नहीं दी है। सरकार की ओर से हावड़ा से बाली को अलग किया गया है। वह बिल जो कि विधानसभा में पारित किया जा चुका है। उसे ‘दादू’ राजभवन में बैठकर पास नहीं होने दे रहे हैं। हालांकि वे उन्हें बुला रहे हैं। इसलिए वे ​जल्द ही दीदी के निर्देश पर राजभवन पहुंचेंगे और उनसे मुलाकात करके यह चुनाव को जल्द संम्पन्न करायेंगे। ताकि आम लोगों को पानी, सड़क व सफाई जैसी सुविधाएं मुहैया करायी जा सके। इधर राज्य के मंत्री अरूप राय ने भी यही कहा कि हावड़ा में कभी भी चुनाव हो सकते हैं। उसे शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए तृणमूल संगठन को और मजबूर कराने की जरूरत है। यह कार्यक्रम हावड़ा उत्तर तृणमूल कांग्रेस की ओर से विधायक गौतम चौधरी के नेतृत्व में किया गया। इस मौके पर विधायक कल्याणेंदु घोष, नगर निगम के चेयरमैन डॉ. सुजय चक्रवर्ती, सृष्टिधर घोष, तृणमूल उपाध्यक्ष महेंद्र अग्रवाल समेत अन्य नेता मौजूद थे।
‘राज्यपाल का पद एक संवेधानिक पद है’
इस बारे में भाजपा नेता उमेश राय ने कहा कि राज्यपाल का पद एक संवेधानिक पद है। ऐसे में राज्य के मंत्री फिरहाद हकीम उन्हें दादू बोलकर पुकार रहे हैं। हालांकि यह अच्छी बात है कि उम्र के हिसाब से राज्यपाल को वह दादू बुला सकते हैं। परंतु हावड़ा में चुनाव नहीं हाेने की वजह फिरहाद हकीम है। क्योंकि उन्होंने बिना कुछ सोचे समझे हावड़ा को बाली से अलग कर दिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मोबाइल में पुराने फोटो देख रही थी महिला, एक तस्वीर से खुली पति और आया के इश्क की पोल

फ्लोरिडा: हाल ही में एक महिला ने टिकटॉक पर अपनी एक कहानी शेयर की और बताया कि कैसे उसका ब्वॉयफ्रेंड उसकी पीठ पीछे उसे धोखा आगे पढ़ें »

ऊपर