बांग्ला‍देश की ओर बढ़ा चक्रवाती तूफान ‘बुलबुल’

bulbul

ढाका : ‘बुलबुल’ तूफान तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है और आज सुबह उत्तरपूर्वी खाड़ी और उसके आस-पास पश्चिम-मध्य खाड़ी में पहुंच गया है। बंगलादेश के मौसम विभाग कार्यालय ने शनिवार सुबह मोंगला और पायरा के समुद्री बंदरगाहों के लिए चेतावनी जारी करते हुए कहा कि तूफान दक्षिणी बंगलादेश के अन्य तटीय जिला संख्या 10 और नौ की ओर तेजी के साथ बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने स्थानीय समय आठ बजे एक विशेष बुलेटिन में चट्टोग्राम बंदरगाह और उसके आस-पास के पांच जिलों तथा बंदरगाह संख्या नौ में सबसे अधिक खतरा बताया है।

आज शाम खुलना तट पर तूफान के पहुंचने का अनुमान

मौसम विभाग ने बताया कि शनिवार को छह बजे चक्रवाती तूफान का केन्द्र चट्टोग्राम बंदरगाह के दक्षिण पश्चिम से लगभग 525 किलोमीटर, कोक्स बाजार बंदरगाह से 510 किमी, मोगला बंदरगाह के 350 किमी ओर पायरा बंदरगाह से 375 किमी पर स्थित था। आज शाम यह तूफान के उत्तर/उत्तर-पूर्वी दिशा और यह पश्चिम बंगाल-खुलना तट (सुन्दरबन के पास) पहुंचने का अनुमान है।

तेज हवाएं और समुद्र में ऊंची लहरे उठेंगी

बुलेटिन में बताया कि चक्रवाती तूफान के दौरान निरतंर 74 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी और धूल भरी आंधी के साथ यह निरंतर बढ़कर 130 किमी से 150 किमी तक बढ़ रही है। इस दौरान समुद, में बहुत ऊंची लहरें उठेंगी। मोंगला और पायरा के समुद्री बंदरगाहों में सात नंबर से कम खतरे के संकेत की सलाह दी गयी है लेकिन यह खतरा बढ़कर 10 नंबर हो जा सकता है।

इन जिलों में 120 किमी प्रति घंटे तेज हवाएं चलने का अनुमान

तटीय जिले खुलना, सतखीरा, चटोग्राम, नोआखली, लक्ष्मीपुर, फेनी, चांदपुर, बरगुना, पटुआखली, बारिसाल, भोला, पिरोजपुर, झालोकाठी, बागेरहाट और उनके तटीय द्वीपों और इलाकों में 100-120 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलने का अनुमान है। मौसम विभाग ने सभी मछुआरों को अगले आदेश तक समुद, से दूर रहने की सलाह दी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्रिकेट न होता तो बालकनी से कूदकर दे देता जान : रॉबिन उथप्पा

नयी दिल्ली : भारत के लिए 46 वनडे और 13 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके रॉबिन उथप्पा ने बताया कि अपने पेशे में वह दो आगे पढ़ें »

‘रिंकिया के पापा’ गाने के म्यूजिक डायरेक्टर धनंजय मिश्रा का निधन

नयी दिल्ली : 'रिंकिया के पापा' गाने के म्यूजिक डायरेक्टर धनंजय मिश्रा का निधन मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में हो गया है। धनंजय मिश्रा के आगे पढ़ें »

ऊपर