साइबर ठगों ने बदला पैटर्न, अब इलेक्ट्रिक बिल को बना रहे हैं जरिया

मैसेज ऐसा भेजते हैं कि आप कॉल करने पर हो जाते हैं मजबूर
अगर यह नहीं करेंगे तो बिजली काटने की देते हैं धमकी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : जैसे-जैसे बैंक फ्रॉड को लेकर आम जनता जागरूक हो रही है, वैसे-वैसे स्कैमर अपना तरीका बदल रहे हैं। साइबर ठगों ने कोलकातावासियों को ठगने का नया पैटर्न सीखा है। पहले आपके मोबाइल में एक मैसेज आता है, जो कि इंग्लिश में लिखा हुआ रहेगा, जिसमें वे कहते हैं कि आपका इलेक्ट्रिक बिल पेमेंट कंपनी को नहीं मिल पाया है। आप आज ही पेमेंट करें, नहीं तो इसी दिन आपकी बिजली काट दी जाएगी। इस मैसेज के बाद लोग थोड़े घबरा जाते हैं और अधिक जानकारी के लिए उस नम्बर पर कॉल कर देते हैं। इसके बाद साइबर ठग आपको लूटने की तैयारी में बैठे रहते हैं। एक भुक्तभोगी डॉक्टर के मोबाइल पर यह मैसेज आया था। इसके बाद जब उन्होंने उस नम्बर कॉल किया तो ठग ने कहा कि सिर्फ उन्हें लेट फाइन चाहिए, वह भी 30 रुपये।
आपको ऐप डाउनलोड करने के लिए कहेंगे या लिंक भेजेंगे
इसके बाद जब ऐप के लिंक पर क्लिक करेंगे तो यह कोई सीईएससी का ऐप नहीं होता है, यह कोई फ्रॉड कंपनी का ऐप नजर आएगा। इसके बाद उक्त ठग ने कहा कि आप क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से पेमेंट करें, इसके बाद डर से उन्होंने फोन काट दिया और इस फ्रॉड से बच गये। उनका कहना है कि मोबाइल बिल को लेकर भी उन्हें ऐसे ही मैसेज आते हैं कि उनका पोस्टपेड बिल का पेमेंट नहीं हुआ है लेकिन चूंकि वे खुद ​बिल जमा करते हैं, इसलिए वे उन फ्रॉड के जाल से बच जाते हैं।
क्या कहना है पुलिस अधिकारी का
साइबर ठगी के बारे में अक्सर लोगों को सतर्क किया जाता है। अनजान ऐप या किसी अनजान व्यक्ति को अपना बैंक डिटेल या पिन शेयर नहीं करें। टोल फ्री नंबर पर काल के दौरान सतर्क रहें। साइबर ठग आपकी सारा बैंक डिटेल ले सकता है। ऐसा अक्सर देखा गया है कि ठग से जब आपकी बात हो रही होती है तभी आपके बैंक खाते से सारा पैसे निकलते जाते हैं। शातिर ठग भोले भाले लोगों के मोबाइल पर फोन कर उन्हें बातों में उलझाकर ठगी का शिकार बना रहे हैं। पुलिस के लगातार लोगों को जागरूक करने के बावजूद ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं।
क्रेडिट कार्ड के डिटेल तो बिल्कुल भी न दें
फोन करने वाले पहले आपको बातों में उलझाकर आपका सारा डिटेल्स ले लेते हैं, इसके बाद तरह – तरह के ऑफर देते हैं, या​ फिर आपको डरा देते हैं ताकि आप अपना सारा डिटेल्स दे दें। पुलिस के मुताबिक बार-बार जागरूक करने के बाद भी लोग उनके जाल में फंस जाते हैं, और ओटीपी देते ही उनके अकाउंट से मोटा अमाउंट गायब हो जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बेटी की शादी के लिए रखी नकदी व गहने चोरी

बारासात : बारासात अंचल के देगंगा थाना अंतर्गत फाजिलपुर दक्षिणपाड़ा निवासी फिरोज अली के सामने विप​त्तियों का पहाड़ टूट पड़ा है। बेटी की शादी के आगे पढ़ें »

ऊपर