महानगर में सप्तमी पर दोपहर से ही उमड़ी लोगों की भीड़

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पारंपरिक रीति-रिवाजों के साथ मंगलवार को महानगर में महासप्तमी मनायी गयी। दोपहर से ही दर्शनार्थियों की भीड़ पूजा पण्डालों में उमड़ने लगी और शाम होते – होते लोगों की भारी भीड़ वि​भिन्न पूजा पण्डालों के पास उमड़ी। पारंपरिक रीतियों के साथ राज्य भर में महासप्तमी मनायी गयी। मंगलवार की सुबह से ही ‘नवपत्रिका’ जिसे भगवान गणेश की पत्नी कहते हैं, उन्हें गंगा समेत विभिन्न नदियों में धार्मिक स्नान के लिए भेजा गया। श्रद्धालुओं ने मां दुर्गा के प्रति पुष्पांजलि अर्पित की।
कोविड प्रोटोकॉल की उड़ी धज्जियां
विभिन्न पूजा पण्डालों में कोविड प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ती हुई देखी गयीं। दोपहर से ही लोग पूजा पण्डाल घूमने के लिए सड़कों पर निकल पड़े। पूजा पण्डालों के पास मास्क अथवा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भी अधिकतर लोगों को नहीं देखा गया। हाल में पश्चिम बंगाल सरकार ने निर्देशिका जारी करते हुए श्रद्धालुओं से कोविड के नियमों को मानने की अपील की थी। हाल में कई पूजा पण्डालों का उद्घाटन करने वालीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी लोगों से मास्क पहनने की अपील की थी।
पण्डालों के अंदर है नो एंट्री
कलकत्ता हाई कोर्ट द्वारा आदेश दिया गया था कि कोविड काल में अत्यधिक भीड़ को देखते हुए गत वर्ष की तरह इस बार भी पश्चिम बंगाल के सभी दुर्गा पूजा पण्डालों में आम लोगों के लिए नो एंट्री रहेगी। कोर्ट ने इस साल पण्डाल के अंदर अंजलि, आरती और सिंदूर खेला की अनुमति दी है जबकि ये भी निर्देश दिया गया है कि सभी धार्मिक रिवाजों के लिए वैक्सीन का डबल डोज आवश्यक है।
दोपहर से उमड़ने लगी भीड़, ट्रैफिक जाम
महासप्तमी के दिन दोपहर से ही लोगों की भीड़ पण्डालों के पास उमड़ने लगी। श्रीभूमि, दमदम पार्क भारत चक्र, सुरुचि संघ, चेतला अग्रणी जैसे विख्यात पूजा पण्डालों में दोपहर से ही लोगों का आना शुरू हो गया। जैसे – जैसे शाम होने लगी, उसी प्रकार भीड़ भी बढ़ने लगी। रात होते – होते काफी संख्या में लोगों का हुजूम पूजा पण्डालों के पास उमड़ गया। इस कारण विभिन्न पूजा पण्डालों के आस-पास सड़कों पर भारी ट्रैफिक जाम लग गया। भीड़ को संभालने और ट्रैफिक मैनेज करने में पुलिस के पसीने छूट गये, लेकिन पुलिस ने भीड़ बखूबी संभाली।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शुक्रवार को लक्ष्मी स्तुति से प्रसन्न होती हैं धन की देवी, धन से जुड़ी परेशानियां होती हैं दूर

कोलकाता : लक्ष्मी जी की कृपा सभी कष्टों को दूर करने वाली मानी गई है। 21 अक्टूबर 2021 से कार्तिक मास आरंभ हो चुका है। आगे पढ़ें »

ऊपर