पितरों के तर्पण के लिए गंगा घाटों पर उमड़ी भीड़

कोलकाता : बुधवार यानी आज महालया अमावस्या में पितरों के तर्पण के साथ दुर्गापूजा की शुरुआत हो गई। अमावस्या के अवसर पर गंगा घाटों और तलाबों के पास लोग अपने पितरों को तर्पण करते दिखें। इस अवसर पर दुर्गा पूजा के लिए राज्य सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन की भी धज्जियां उड़ती दिखीं, लेकिन महालया के साथ पश्चिम बंगाल में दस दिवसीय दुर्गा पूजा का आरंभ हो गया। मान्यता है कि महालया के साथ जहां श्राद्ध पक्ष खत्म होते हैं। इसी दिन मां दुर्गा कैलाश पर्वत से धरती पर आगमन कर अगले 10 दिनों के लिए वास करती हैं। 10 दिनों के दौरान पूरे बंगाल में दुर्गा पूजा धूमधाम से मनायी जाती है, लेकिन कोरोना महामारी के मद्देनजर हाईकोर्ट के निर्देश के अनुसार इस साल भी दुर्गा पूजा होगी। कोरोना की कमजोर होती दूसरी लहर और तीसरी लहर की संभावित आशंका के बीच हो रही ऐतिहासिक दुर्गा पूजा के लिए पश्चिम बंगाल सरकार ने नई निर्देशिका जारी की है।
गंगा घाटों पर उमड़ी भीड़
महालया के अवसर पर पितृ तर्पण के लिए गंगा नदी के घाटों पर बुधवार सुबह से ही लोगों की भारी भीड़ लगी है। बंगाल में महालया के साथ ही मां दुर्गा की प्रतिमा में नेत्र अंकन किया जाता है। इधर सुबह से ही कोलकाता के बाबू भाग बागबाजार, कुम्हारटोली, दक्षिणेश्वर, अहिरीटोला, हावड़ा के गंगा घाटों पर हजारों की संख्या में लोग पहुंचे हैं जो पितृ तर्पण कर रहे हैं। नियमानुसार सूर्योदय से पहले से ही पुरोहित घाटों पर पहुंच गए थे। लोगों ने मंत्रोचार के साथ पितृ तर्पण किया। हिंदी भाषी प्रदेशों में महालय को अमावस्या के तौर पर मनाया जाता है और पूर्वजों का तर्पण किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन पूर्वज धरती पर उतरते हैं और उन्हें अपने-अपने संतानों से तर्पण की उम्मीद रहती है। इसीलिए गंगा घाटों पर बड़ी संख्या में हर साल भारी भीड़ होती है। हर साल की तरह इस साल भी कोलकाता और हावड़ा के गंगा घाटों पर अतिरिक्त संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी। इसके अलावा सिविक वॉलिंटियर और होमगार्ड को भी घाटों पर तैनात किया गया था ताकि महामारी को देखते हुए शारीरिक दूरी के प्रावधानों का पालन सुनिश्चित किया जा सके।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

त्रिपुरा में महिला सांसद पर हमला, अभिषेक ने कहा : गुंडाराज चल रहा

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : त्रिपुरा में तृणमूल की राज्यसभा महिला सांसद सुष्मिता देव पर हमला हुआ है। उनकी गाड़ी में जमकर तोड़फोड़ की गयी है। यह आगे पढ़ें »

ऊपर