बहूबाजार की इमारतों में दरार : अब दोबारा यह सब सहने की हिम्मत नहीं

साल 2019 में किया गया था स्थायी समाधान का वादा
पीड़ित हैं दुर्गा पितुरी लेन के कई जायसवाल परिवार
कई लोगों ने अब तक दरारवाली इमारतों के पास ही बनाया है अस्थायी बसेरा
कोलकाता : कोलकाता के बहूबाजार इलाके में एक बार फिर कई इमारतों में आयी दरार ने वहां रह रहे लोगों के जीवन को हिला कर रख दिया है। वे इस बार इसलिए दुखी नहीं हैं कि उन्हें दोबारा घर छोड़कर जाना पड़ रहा है, यहां के लोग इसलिए गुस्से में हैं कि सरकार, मेट्रो और प्रशासन ने अब तक इसका कोई स्थायी समाधान नहीं निकाला। हम यहां बात कर रहे हैं दुर्गा पितुरी लेन के रहनेवाले विश्वरूप ठाकुर की, जो अपने पूरे परिवार, मां-पिता, पत्नी, भाई व बच्चों के साथ होटल में रहने जा रहे हैं। उनका कहना है कि वे पिछले 4 दशकों से यहां रहते हैं और कभी भी यह विडम्बना नहीं सहनी पड़ी। साल 2019 में जब दरार आयी तो मेट्रो व सरकार ने वादा किया था कि स्थानीय समाधान निकाला जाएगा लेकिन एक बार फिर उन्हें यहां लाकर रखा गया है, फिर से सामान लेकर जाना पड़ रहा है। उन्हें रहने के लिये होटल तो मिल गया लेकिन सामान रखने के लिए उनके पास पर्याप्त जगह नहीं है। यही कहना है अविनाश जायसवाल व उनके भाई का। उनका परिवार पिछले 5 दशकों से यहां रहता है। अब उन्हें होटल में रहने के लिये जाना पड़ रहा है। मुश्किल यह है कि वे अपना सामान यहां से लेकर कैसे जायेंगे, क्योंकि रहने की जगह तो मिली है लेकिन सामान कहा रखेंगे। इधर कुछ परिवार ऐसे हैं जिन्हें अभी तक रहने के लिए होटल उपलब्ध नहीं कराया गया है। उनका कहना है कि उन्हें रात में ही बोला गया कि वे अपने घर से निकल जाएं और सामान बाहर रख लें तो उन्होंने रख लिया है, लेकिन अभी तक उन्हें स्थायी समाधान नहीं मिला है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज इस विधि से करें मां लक्ष्मी की पूजा, दरिद्रता होगी दूर

कोलकाताः शुक्रवार का दिन हिंदू धर्म में धन की देवी मां लक्ष्मी की पूजा के लिए जाना जाता है। हर व्यक्ति की इच्छा होती है आगे पढ़ें »

ऊपर