क्रेकर-फ्री दिवाली ने निकाला पटाखा व्यवसायियों का दिवाला

8 लाख परिवार की जिंदगी में छाया अंधेरा
प्रभावित हुई 31 लाख लोगों की जिंदगी
सोनू ओझा
कोलकाता : राज्य के प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने दिवाली, छठ पूजा के मौके पर दो घंटे की मोहलत के साथ ग्रीन पटाखा जलाने की छूट दी। साथ ही निर्देश दिया कि आम पटाखों की बिक्री पर पूरी तरह रोक लगेगी। लोगों में खुशी थी कि चलों इस बार दिवाली का त्योहार पटाखे की रोशनी के साथ मनेगी। पटाखों व्यवसायिओं में भी उम्मीद जगी कि कोरोना के दौर में कम से कम इस बार किस्मत ने साथ दिया है, पटाखे के बाजार सजेगा। अभी खुशी मना ही रहे थे कि कोलकाता हाईकोर्ट ने पटाखों पर पूरी तरह बैन लगा दिया। न आम पटाखे जलेंगे न ही ग्रीन पटाखों की दुकान सजेगी। कोर्ट के एक आदेश ने दिवाली को क्रेकर फ्री बना दिया लेकिन पटाखा व्यवसायिओं का दिवाला निकाल दिया।
कोर्ट के आदेश का सम्मान मगर दुखी है हम
सारा बांग्ला आतिशबाजी उन्नयन समिति के चेयरमैन बाबला रॉय ने कहा ​कि हम हाई कोर्ट के आदेश का पूरा सम्मान करते है। उनके खिलाफ हम आवाज नहीं उठा सकते लेकिन यह फैसला हमारे लिए निराशाभरा है। इस फैसले के पीछे 31 लाख लोगों की जिंदगी जुड़ी हुई थी जो आज सिर पर हाथ रखकर बैठे है। हमारी तैयारी पूरी थी, हम नियमों को मानते हुए पटाखा बाजार सजाने की योजना में थे अब समझ ही नहीं आ रहा है कि करे तो करे क्या। उन्होंने कहा कि इस व्यवसाय से जुड़े 8 लाख परिवार की आंखों की चमक चली गयी है क्योंकि पूरे साल इंतजार करने के बाद दिवाली एक वह मौका होता है जब इनकी कमाई होती है जिसपर पानी फिर गया।
सिर्फ पटाखों पर टिकी है इनकी रोजी-रोटी
पटाखा व्यवसाय से जुड़े लोगों की बात करें तो इनकी पूरी जीविका इसी पर टिकी होती है। पटाखे बनाने के लिए ये पूरे साल मेहनत करते हैं। जो समय मिलता है उनमें कुछ लोग खेती करके अलग से रुपयों का जुगाड़ करते हैं। इस पर बाढ़ का कहर आये तो इनके हाथ कुछ नहीं लगता है।
बंगाल में आतिशबाजी का व्यवसाय
* कुल व्यवसाय : करीब 600 करोड़ रुपये का
* कुल टर्न (सालाना) ओवर : करीब 6000 करोड़ रुपये का
* पटाखा से जुड़े व्यवसायी : करीब 31 लाख
* व्यवसाय से जुड़ा परिवार : करीब 7-8 लाख

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महिला ने बेटी का रेप करने में की प्रेमी की मदद और फिर…

औरंगाबादः यहां एक महिला ने 17-वर्षीय बेटी का रेप करने में अपने 52-वर्षीय प्रेमी की कथित तौर पर मदद की। बकौल पीड़िता, विरोध करने पर आगे पढ़ें »

ऊपर