कोरोना की लाइफ सेविंग इंजेक्शन मेडिकल से गायब

बहूबाजार थाने में शिकायत, ममता ने लिया संज्ञान
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः कोलकाता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल से जीवनरक्षक इंजेक्शन तोसिलिजुमैब के गायब होने की खबर है। आरोप है कि कोलकाता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल से करीब 26 इंजेक्शन गायब हो गए। इसकी कीमत करीब 11 लाख रुपये बतायी जा रही है। यह मामला हाल ही में एक सोशल मीडिया की पोस्ट से सामने आया।
कथित तौर पर, कोलकाता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल पर दबाव बनना शुरू हो गया है कि कैसे दवा केवल ‘नमूना परीक्षा फॉर्म’ (एक पेपर जिसे जांच के लिए रोगी की प्रयोगशाला में भेजा जाना है) से निर्धारित किया गया था, और वह इस प्रकार से गायब हो गई। आरोप है कि कथित तौर पर एक महिला ने अपना परिचय क्रिटिकल केयर की नर्स के तौर पर बताया और दूसरी महिला को ‘दीदी’ कहा। इसके बाद ही 26 तोसिलिजुमैब इंजेक्शन यहां से नदारद हो गए। यहां सवाल उठता है कि क्या इस तरह से बिना अनुमति के कोई जीवन रक्षक दवा ली जा सकती है। इसको लेकर डॉक्टरों में खासा आक्रोश है। बता दें कि मामला 10 दिन पहले प्रकाश में आया था। इंटक, सेवादल, पश्चिम बंगाल शाखा के अध्यक्ष प्रमोद पाण्डे ने मामले को लेकर जांच की मांग करते हुए एक वरिष्ठ तृणमूल नेता के खिलाफ बहूबाजार थाने में शिकायत की है। मामले को लेकर सीएम ममता बनर्जी ने भी संज्ञान लिया है।
जांच कमेटी गठित
महिला मेडिकल कॉलेज में जांच समिति के समक्ष पेश हुई। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने कहा, मामले की जांच की जाएगी। रोजाना कोरोना के संक्रमण में कमी आई है। हालांकि, दूसरी लहर में कई कोरोना मरीज अपनी जान गंवा रहे हैं। इनमें कोरोना काल में कई दवाओं की किल्लत पैदा करने के भी आरोप हैं। नतीजतन, एक जोखिम है कि चिकित्सा सेवाएं किसी भी समय उपलब्ध नहीं होंगी। ऐसे में सरकारी अस्पताल से भारी मात्रा में तोसिलिजुमैब इंजेक्शन गायब होने से संबंधित अधिकारी काफी असहज महसूस कर रहे हैं। कोलकाता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल की प्रिंसिपल डॉ. मंजू बनर्जी ने कहा कि जांच कमेटी गठित की गई है। जांच की जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

12 दिनों के अंदर फिर दिल्ली जा रहे हैं शुभेंदु, मिलेंगे नड्डा से

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी 12 दिनों के अंदर ही एक बार फिर दिल्ली जा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार, आगे पढ़ें »

संभावित कोरोना की तीसरी लहर को लेकर राज्य ने की तैयारी

सरकार बच्चों के लिए बेड की व्यवस्था कर रही है मां को भी रहना होगा अलर्ट कोविड के मामले 32 % से घटकर 4 आगे पढ़ें »

ऊपर