कोरोना काल में कई टैक्सीवालों की निर्ममता, दुगुना वसूल रहे हैं किराया

अधिकांश टैक्सीवाले नहीं कर रहे हैं मीटर ऑन
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोरोना काल में भी कई टैक्सीवालों की निर्ममता लगातार सामने आ रही है। इन दिनों टैक्सी वाले अपने टैक्सी का मीटर ऑन नहीं कर रहे हैं और लोगों की मजबूरी का फायदा उठा रहे हैं। मनचाहा टैक्सी किराया वसूल रहे हैं। जिन या​​त्रियों को जल्दी जाना है या फिर किसी तरह की इमरजेंसी है, यह देखकर तो कई टैक्सीवाले जितना मन में अाये किराया मांग रहे हैं। कुछ कहने पर डीजल – पेट्रोल की बढ़ती कीमतों की दुहाई देने लगते हैं। वहीं अगर कुछ यात्री पुलिस कार्रवाई की बात करते हैं, उससे भी उन्हें कोई अंतर नहीं पड़ रहा है।
बसाें की कमी से कुछ टैक्सीवालों की चांदी – चांदी
राज्य में मतदान चल रहा है। ऐसे में बसों की संख्या पहले से कम हो गयी है। एक रुट में जहां रोजाना 10 बसों का परिचालन होता था, अभी वह घटकर 3 से 4 हो गया है। ऐसे में लोगों काे यातायात में पहले से ही असुविधाएं हो रही हैं। कुछ लोग शटल टैक्सी से तो कुछ मीटर से यातायात कर रहे हैं, लेकिन अधिकांश टैक्सीवाले तो मीटर से जाना ही नहीं चाहते हैं। बस की कमी होने से टैक्सी ड्राइवरों की चांदी ही है।
यात्री हैं परेशान, दोगुना ले रहे हैं किराया
एक यात्री रमेश ने कहा कि उसे महात्मा गांधी रोड से अलीपुर जाना है। अधिकतम मीटर से किराया 160 तक आता है, लेकिन इन दिनों तो टैक्सीवाले मीटर से चलने को तैयार ही नहीं और 250 रु. तक मांगते हैं। हमलोग मीटर से 20 रु. अधिक देने काे तैयार रहते हैं फिर भी कई ड्राइवर रिफ्यूज कर देते हैं। खिदिरपुर की रहने वाली सीमा का कहना है कि वह सेंट्रल एवन्यू स्थित एक दफ्तर में काम करती है। पहले ताे समय से बस मिल जाती थी मगर पिछले महीने भर से समय पर बसें नहीं मिल रही हैं। ऐसे में टैक्सी उसकी मजबूरी है। अगर मीटर से जाये तो किराया अधिकतम 140 रु. तक आयेगा मगर टैक्सी वाले 200, 220 रु. तक मांगते हैं जो कि मध्यम वर्गीय लोगों के लिए रोजाना देना संभव नहीं है।
मनमाना किराया वसूलना गैरकानूनी
कोलकाता में करीब 25 सालों से टैक्सी चलाने वाले अशोक यादव का कहना है कि अभी जो हालात है ऐसा पहले कभी नहीं देखा है। एक तरफ कोरोना के कारण या​त्रियों की संख्या कम हो गयी है वहीं दूसरी ओर पेट्रोल डीजल के दाम ने हमारी भी कमर तोड़ दी है लेकिन मनमाना किराया वसूलना गलत और गैरकानूनी है। कुछ टैक्सीवालों के कारण हमलोगों को भी बदनाम होना पड़ रहा है। यात्री ऐसे टैक्सीवालों के खिलाफ कार्रवाई करें।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दो श्मशान और एक कब्रिस्तान बना रही है कोलकाता नगर निगम

कोविड शवों की बढ़ती संख्या बढ़ा रही है प्रशासन की परेशानी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस आगे पढ़ें »

पत्नी ने ससुराल जाने से किया इनकार, हताश पति ने खुद को चाकू से गोदा

नदियाः पत्नी के विरह में पागल दिलीप दास (40) के साथ उसकी पत्नी ने ससुराल जाने से इनकार कर दिया। इस बात से दुःखी दिलीप आगे पढ़ें »

ऊपर