फैल रहा है कोरोना, केंद्रीय बलों को हटाया जाए : ममता

मद्रास हाई कोर्ट के फैसले का स्वागत किया
बोली – तृणमूल 200 सीटें करेगी पार
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए ममता बनर्जी ने आखिरी चरण के चुनाव में केंद्रीय बलों को हटाने की मांग की है। ममता बनर्जी सोमवार को उत्तर कोलकाता में आखिरी चरण के होने वाले चुनाव के लिए अंतिम बार प्रचार करने पहुंची थीं। इस दौरान ममता ने कहा कि ‘मैं अनुरोध करती हूं कि कृपया कर कोविड-19 प्रभावित राज्यों से लाए गए करीब दो लाख केंद्रीय बलों के जवानों को वापस भेजा जाए, जो स्कूलों, कॉलेजों और सुरक्षित आश्रयों में रह रहे हैं और कोविड-19 प्रबंधन को बाधित कर रहे हैं, उनमें से 75 प्रतिशत वायरस से संक्रमित हैं। कृपया कर उन्हें अंतिम चरण के चुनाव से हटाया जाए।’ ममता का कहना है कि सीआरपीएफ पिछले तीन महीनों से यहां रहकर कई जगहों को कैप्चर किए हुए है जिसकी वजह से सरकार सेफ होम तैयार नहीं कर पा रही है। इनके जाने के बाद ही उन जगहों को सरकार कोविड के इलाज के लिये उपयोग में ला सकेगी इसलिए इस पर ध्यान दिया जाए।
मद्रास हाई कोर्ट के फैसले को सराहा
इधर ममता ने मद्रास उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत किया। ममता ने कहा ‘मैं मद्रास उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करती हूं जिसमें साफ तौर पर कहा गया कि निर्वाचन आयोग अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और निर्वाचन आयोग दोनों ही इस स्थिति (राज्य में संक्रमण के प्रसार) के लिए जिम्मेदार हैं।’
चुनाव पर बोलीं, तृणमूल करेगी 200 पार
ममता ने चुनाव प्रचार करते हुए दावा किया कि तृणमूल 200 सीटें पार करेगी क्योंकि इस बार बंगाल की सत्ता में तृणमूल ही वापस आ रही है। इसके पहले भी ममता कह चुकी हैं कि भाजपा 70 सीट से ज्यादा नहीं जीत पाएगी जबकि संयुक्त मोर्चा 25 सीटों तक आकर सिमट जाएगा। ममता ने कहा कि कोरोना की जो हालत है वह केंद्र की लापरवाही का नतीजा है। मोदी कोरोना को रोकने की जगह बंगाल दखल पर फोकस किए रहे। उन्होंने कहा कि बहुत सहन कर लिया अब चुनाव के बाद सब हिसाब लिया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुसाइड प्वाइंट बनता जा रहा है विद्यासागर सेतु

हावड़ा ब्रिज पर रेलिंग लगने के बाद यहां पर लोगों की संख्या बढ़ी पिछले दो महीने में 5 लोगों को पुलिस ने आत्महत्या करने से बचाया सन्मार्ग आगे पढ़ें »

कोरोना संक्रमित पिता के इलाज खर्च जुगाड़ नहीं कर पाया, बेटा कुएं में कूद कर मरा

सन्मार्ग संवाददाता दुर्गापुर : प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित पिता के इलाज का खर्च नहीं उठा पाने से तनावग्रस्त बेटे ने कुआं में कूदकर आत्महत्या आगे पढ़ें »

ऊपर