चीन ही नहीं 26 देशों में विग और ब्यूटी प्रोडक्ट के लिए बालों की तस्करी हो रही है बंगाल से

बांग्लादेश होते हुए चीन पहुंचाया जा रहा है
कोलकाता : सीमाई इलाकों में इन दिनों बालों की तस्करी के कई मामले सामने आये हैं। बीएसएफ सूत्रों के मुताबिक चीन ही नहीं बल्कि 26 देशों में विग व ब्यूटी प्रोडक्ट आदि बनाने के लिए बालों की तस्करी भारतीय सीमा से बांग्लादेश से करायी जा रही है। बांग्लादेश में तस्करी के जरिये जाने वाले ये बाल विभिन्न प्रकार की साफ-सफाई की प्रक्रिया से गुजरने के बाद वहां से चीन, यूएई, मलेशिया आदि कुल 26 देशों में निर्यात किये जाते हैं जिनमें सबसे ज्यादा चीन में निर्यात होता है। सीमा सुरक्षा बल के क्षेत्रीय मुख्यालय, कृष्णनगर के जिम्मेवारी के इलाके में बालों की तस्करी की घटनाओं में काफी बढ़ोतरी हुई है। नदिया जिले के सीमावर्ती इलाके में जनवरी 2021 से अभी तक विभिन्न घटनाओं में कुल 215 किलो बालों की जब्ती की गई है।
आखिर क्यों बंगाल से हो रही है तस्करी
इन बालों को देश में विभिन्न धार्मिक स्थलों, छोटे बड़े नाई की दुकानों और गांव गली से लेकर इनकी साफ सफाई करके बंडल बनाकर बांग्लादेश में तस्करी की जाती है। हाल ही के दिनों में बांग्लादेश के सीमावर्ती जिले चुवाडंगा, कुस्तिया, मेमनसिह आदि जिलों में कई हेयर प्रोसेसिंग की कंपनिया हैं जिनमें बांग्लादेश के गांवों में घरेलू महिलाओं से इनकी साफ-सफाई की प्रक्रिया पूरी करवाई जाती है जिसे प्रोसेसिंग की लागत भी कम आती है। इस काम में तकरीबन इन जिलों के 1 लाख लोगों को रोजगार मिला हुआ है। भारत में बालों के विग की डिमांड कम होने के कारण व कच्चे बालों की आसानी से उपलब्धता के कारण बालों को सस्ते दामों में खरीदकर महंगे दामों में बेचा जाना भी तस्करों का रुझान बढ़ने के पीछे का एक बड़ा कारण है।
सीमा सुरक्षा बल ने बढ़ायी निगरानी
सीमा सुरक्षा बल ने 13 अलग-अलग घटनाओं में कुल 4 लोगों को पकड़ा है और 225 किलो मानव बालों की जब्ती की है। इन पकड़े गए तस्करों और सीमा सुरक्षा बल के अपने सूत्रों से मिली जानकारी को अन्य सहयोगी संस्था जैसे पुलिस, कस्टम, नार्कोटिक कन्ट्रोल यूनिट आदि के साथ साझा किया जाता है और उनकी मदद से सीमा सुरक्षा बल को इस प्रकार की तस्करी को रोकने में मदद मिलती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना मरीज की मौत को कब नहीं माना जाएगा कोविड डेथ…

नई दिल्ली : कोरोना से मौत पर मुआवजे की मांग के लिए सुप्रीम कोर्ट में जो अर्जी दाखिल की गई थी, उसपर केंद्र सरकार ने आगे पढ़ें »

बेटे ने वित्तीय हालत खराब होने पर मां को भेजा वृद्धाश्रम, फिर…

औरंगाबाद: महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में एक बुजुर्ग महिला को वृद्धाश्रम में रहने के लिए मजबूर होना पड़ा, क्योंकि उसके बेटे ने कोरोना वायरस को आगे पढ़ें »

ऊपर