फिर हालात हो रहे बेकाबू, नहीं मिल रहे हैं अस्पतालों में बेड

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोरोना वायरस महामारी का असर काफी बढ़ता चला जा रहा है। हालत यह है कि इन दिनों कोविड के मामले 1 दिन में कोलकाता में ही 1000 से पार हो गए है। यही हाल उत्तर 24 परगना जिले में भी है। माना जा रहा है कि पिछले साल के रिकॉर्ड को भी इस बार कोविड के मामलों ने तोड़ दिया है। यही वजह है कि इन दिनों कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले के कारण निजी अस्पतालों में बेड मिलना मुश्किल हो रहा है।
शहर के अस्पतालों में नहीं मिल रहे हैं कोविड मरीजों के लिए बेड : अभी हालत यह है कि महानगर के प्रमुख निजी अस्पतालों में ही कोविड के मरीजों के लिए बेड मिलना मुश्किल हो रहा है। आलम यह है कि कई मरीज वेटिंग लिस्ट में चल रहे हैं। ऐसे में यदि कोई मरीज गंभीर अवस्था में निजी अस्पताल में पहुंचता है, तो उसका इलाज कैसे होगा यह एक सोचनीय स्थिति हो गई है। जाने माने अस्पताल के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि जरूरत है कि लोग कोरोना वायरस को लेकर के सचेत रहें। लोगों की जागरूकता से ही कोरोना वायरस के मामले पर नियंत्रण पाया जा सकता है।
बेल व्यू अस्पताल के वरिष्ठ डॉ. राहुल जैन बताते हैं कि वर्तमान में कोरोना वायरस की दूसरी वेव दस्तक दे चुकी है, ऐसे में यह समय काफी सचेत रहने का है। जरूरत है कि जो लोग वैक्सीन लेने के दायरे में हैं, उन्हें वैक्सीन ले लेने की जरूरत है। इसके अलावा अधिक भीड़ से लोगों को बचने की जरूरत है। वर्तमान में राजनीतिक रैलियां हो रही हैं, लोग बिना नियम माने ही घूम रहे हैं, इस कारण कोरोना फैल रहा है। जागरूकता से ही लोगों का बचाव संभव है।
वेस्ट बंगाल डॉक्टर्स फोरम के डॉ.राजीव पांडेय कहते हैं कि हम लगातार इस सिलसिले में चुनाव आयोग से लेकर के स्वास्थ्य विभाग व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिख चुके हैं। हमें पहले ही आशंका थी कि कोरोना वायरस की दूसरी लहरा सकती है। आज पूरा देश उसी स्थिति का सामना कर रहा है। एक बार फिर से लोगों को जागरूक होने का समय है। बिना मास्क के घर से ना निकलें। समय-समय पर साबुन से हाथ धोते रहें।
कुछ अस्पतालों की स्थिति-
कोविड अस्पताल- बेड- खाली बेड
एमआर बांगुर- 441- 0
आमरी साल्टलेक- 10- 0
बेलियाघाटा आईडी-165- 19
सीएनसीआई- 150- 0
कोलकाता मेडिकल- 300- 48
कुछ निजी अस्पताल की स्थिति-
अस्पताल- बेड- खाली बेड
केपीसी- 12- 0
बेल व्यू- 114 – 0
आमरी मुकुंदपुर- 33- 0
पियरलेस- 129- 1
(नोट-आंकड़े 11 अप्रैल 2021 के स्वास्थ्य विभाग )

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या रात में ब्रा पहन कर सोना चाहिए? जानें इस पर क्या है एक्सपर्ट की राय

कोलकाता : अक्सर महिलाएं इस बात को लेकर काफी परेशान रहती हैं कि क्या रात को ब्रा उतार कर सोना चाहिए या नहीं। जहां कुछ आगे पढ़ें »

लोकल ट्रेनें बंद : रेलवे हॉकरों के सामने एक बार फिर जीने-मरने का सवाल

कब रेलवे स्टेशनों पर होगी चमक, दुकानदार हैं इंतजार में सियालदह से 3 शाखाओं में ट्रेनों में हॉकरी करते हैं 37 हजार हॉकर हावड़ा/कोलकाता : आगे पढ़ें »

ऊपर