कोरोनाः संभलने का दौर, 41.1% है कोलकाता की पॉ‌जिटिविटी रेट

उत्तर 24 परगना जिले में 42.4% है कोविड पॉजिटिविटी रेट
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः कोरोना वायरस महामारी को लेकर राज्य सरकार ने कड़ी सख्ती यूं नहीं उठाई है। इसके पीछे एक बड़ी वजह है। ऐसे में जरूरत है कि लोग कोरोना वायरस के सेकेंड वेव से संभलकर रहें। वेस्ट बंगाल मेडिकल काउंसिल के सदस्य डॉ.पी.के.नेमानी ने कहा कि बीमारी के प्रति जागरूक रहने का समय है। बंगाल में भी कोविड की रफ्तार कम होगी, हालांकि थोड़ा समय लग रहा है। लॉकडाउन का असर धीरे-धीरे लोगों को नजर आएगा।
पड़ोसी राज्य झारखंड में 20% व बिहार में 16% भी नहीं है पॉ‌जिटिविटी रेट
यदि कोविड के आंकड़ों पर गौर करें तो पश्चिम बंगाल के पड़ोसी राज्य झारखंड में कोविड पॉजिटिविटी रेट सबसे अधिक केवल गुमला जिले में 17.4% है। ऐसे में विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड की रेट को कम करने के लिए हमें और ठोस प्रयास करने की जरूरत है। बिहार में भी कोविड की पॉ‌जिटिव रेट बंगाल से कम है। बिहार में पटना में कोविड पॉजिटिविटी रेट सबसे अधिक 15.4% है। हालांकि ओड़िशा की स्थिति बंगाल के आस-पास ही कही जा सकती है। यहां अनुगुल में कोविड पॉजिटिविटी रेट 35.8% है। यह सबसे अधिक है।
वैक्सीनेशन पर जोर देने की आवश्यकता
एसोसिएशन ऑफ हेल्थ सर्विस डॉक्टर्स (एएचएसडी), वेस्ट बंगाल के महासचिव डॉ.मानस गुमटा ने कहा कि स्थिति की भयावहता को देखते हुए हमें अधिक से अधिक वैक्सीनेशन की प्रक्रिया पर ही जोर देने की जरूरत है। इससे ही हम एक बड़े क्षेत्र को कोविड की लहर से सुरक्षित रखने में कारगर साबित हो सकते हैं। डॉ. नेमानी ने कहा कि कोविड वायरस के बढ़ते मामलों को कम करने के लिए अनेकों उपाय सरकार की ओर से किए जा रहे हैं। जरूरत है कि लोग भी इसके प्र‌ति जागरूक रहें। मॉस्क अवश्य पहनें। नारायण मेमोरियल अस्पताल की सीईओ सुपर्णा सेनगुप्ता ने कहा कि देखा जा रहा है कि कोविड के मरीज अस्पताल में काफी देर से आ रहे हैं। जागरूक रहकर लोग समय पर डॉक्टर के पास पहुंचे, इसकी आवश्यकता है।
अधिक कोविड पॉजिटिविटी रेट वाले जिले
कोलकाता-41.1%
उत्तर 24 परगना-42.4%
नदिया-38.1%
दार्जिलिंग-34.6%
जलपाईगुड़ी-33.5%
पश्चिम बर्दवान-33.3%
हावड़ा-31.9%
पूर्व मिदनापुर-29.8%
कम कोविड पॉजिटिविटी रेट वाले जिले
पूर्व बर्दवान-22.2%
मालदह-21.7%
दक्षिण दिनाजपुर-21.7%
झाड़ग्राम-19.9%
पुरुलिया-17%
अलीपुरदुआर-15.1%
कैलिम्पोंग-13.4%
कूचबिहार-11.6%
(नोटः आंकड़े केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से )

शेयर करें

मुख्य समाचार

साल्टलेक सेक्टर-5 स्टेशन का भी निजीकरण

अब बंधन बैंक का लगा स्टेशन पर नाम कोलकाताः मेट्रो रेलवे की ओर से कई स्टेशनों को निजीकरण किए जाने की पहल पहले ही गई है। आगे पढ़ें »

महिला को डायन करार देकर पीटने का आरोप

मिदनापुर: पश्चिम मिदनापुर जिले के जंगलमहल इलाके में एक बार फिर से एक महिला को डायन करार देते हुए उसे बुरी तरह से पीटे जाने आगे पढ़ें »

ऊपर