जरूरत पड़ने पर राज्यपाल के बिना आयोजित करेंगे दीक्षांत समारोह: बंगाल के मंत्री

parth

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि कलकत्ता विश्वविद्यालय का आगामी दीक्षांत समारोह राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बिना भी आयोजित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि, अगर जरूरत पड़ी तो यह कार्यक्रम राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बिना भी आयोजित किया जा सकता है क्योंकि उन्होंने राज्य सरकार को निशाने पर लेते हुए लगातार कई बयान दिए हैं। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस बारे में अंतिम फैसला विश्वविद्यालय ही लेगा क्योंकि यह एक स्वायत्त संस्था है। बता दें कि कलकत्ता विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह 28 जनवरी को होना है।

राज्यपाल लगातार दे रहे विवादित बयान

चटर्जी ने सोमवार शाम को एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा कि आमतौर पर सामान्य हालात में उच्च शिक्षा विभाग ने दीक्षांत समारोह जैसे कार्यक्रम में राज्यपाल को आमंत्रित नहीं करने के बारे में सोचा नहीं होता क्योंकि राज्यपाल राज्य के विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति होते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन जिस तरह से वह लगातार विवादित बयान दे रहे हैं और राज्य के हर कदम पर अपने ट्वीट के जरिए निशाना साध रहे हैं, यह राज्यपाल के पद के अनुरूप नहीं है। इसलिए हो सकता है कि हमें ऐसा कदम उठाना पड़े।’’

धनखड़ ने सोमवार को बुलाई थी बैठक

सोमवार को धनखड़ ने राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों में हालात पर चर्चा के लिए कुलपतियों और उच्च शिक्षा सचिव के साथ राज भवन में बैठक बुलाई थी। लेकिन यह बैठक हो नहीं सकी क्योंकि इसमें कुलपति और अन्य अधिकारी हिस्सा लेने ही नहीं आए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना ने जुलाई-सितंबर के दौरान शीर्ष सात शहरों में घरों की बिक्री 61% घटाई

नयी दिल्ली: कोविड-19 महामारी से आवास क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ है। संपत्ति सलाहकार जेएलएल इंडिया ने सोमवार को कहा कि महामारी की वजह से आगे पढ़ें »

फ्रेंच ओपन में उलटफेर, मर्रे पहले दौर में हारकर बाहर, ज्वेरेव दूसरे दौर में

पेरिस : आम तौर पर ग्रैंडस्लैम के पहले दौर में दो ग्रैंडस्लैम चैम्पियनों का सामना नहीं होता लेकिन फ्रेंच ओपन के शुरूआती दौर में यह आगे पढ़ें »

ऊपर