बंगाल में दस्तक देने लगी ठंड, लेकिन अलीपुर मौसम विभाग ने कहा…

कोलकाताः बंगाल में दोपहर बाद और सुबह-सुबह ठंड का अहसास होने लगा है। ऐसा लग रहा है मानो ठंड के मौसम ने दस्तक दे दी है। हालांकि, अलीपुर मौसम विभाग ने यह स्पष्ट कर दिया है कि बंगाल में अब तक ठंड ने दस्तक नहीं दी है और इसमें अभी देरी है। नतीजतन, ‘दिल्ली अभी दूर है’। हालांकि, सुबह और रात में तापमान में बदलाव होगा, लेकिन इसका सर्दियों के आगमन से कोई लेना-देना नहीं है। हर साल अक्टूबर के मध्य में, उत्तर से शुष्क हवाएं चलने लगती हैं, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ क्योंकि इस साल मानसून ने देरी से दस्तक दी थी और मानसून के जाने में भी देरी हुई।
निम्न दबाव की संभावना
इस बीच, मौसम कार्यालय ने कहा कि शनिवार सुबह से ही मौसम में बदलाव दर्ज की गई है। बंगाल की खाड़ी से एक बार फिर निम्न दबाव होने की संभावना है, जिसके कारण अब मौसम में बदलाव हो सकता है। शुक्रवार को कोलकाता में न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस था और अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस था। मौसम की यह तस्वीर शनिवार को नहीं बदल रही है। मौसम विभाग ने पूर्वानुमान लगाया है कि दक्षिण बंगाल में तापमान आज भी 23 से 33 डिग्री के बीच रहेगा।
अगले महीने से कड़ाके की ठंड
मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, निम्न दबाव बंगाल के पूर्वी मध्य खाड़ी में फिर से तेज होने की संभावना है। हालांकि, अगले एक सप्ताह में डिप्रेशन कम होने की उम्मीद है। और जैसे ही डिप्रेशन कम होता है, राज्य में उत्तरी हवा चल सकती है जिसके बाद यहां ठंड दस्तक देगी। परिणामस्वरूप, मौसम विज्ञानी बंगाल में अगले महीने के मध्य में कड़ाके की ठंड की भविष्यवाणी कर रहे हैं। हालांकि दक्षिण बंगाल पर कम दबाव का असर पड़ने की संभावना है, लेकिन कई उत्तरी जिलों में सर्दी का असर पहले से ही महसूस किया जा रहा है।
समुंदर के शांत होते ही ठंड
परिणामस्वरूप, बंगाल के लोग, जो गर्मी और बरसात के मौसम से परेशान थें, उन्हें जल्द ही सर्दियों के मौसम का आनंद मिलेगा। मौसम कार्यालय के अनुसार, जैसे ही समुद्र शांत हो जाएगा, बंगाल के लोग ठंड की ठिठुरन महसूस करने लगेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शास्त्री को रोहित की चोट के बारे में कोहली को बताना चाहिये था : गंभीर

नयी दिल्ली : भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का मानना है कि रोहित शर्मा की चोट को लेकर भारतीय टीम प्रबंधन और चयनकर्ताओं आगे पढ़ें »

अपने आपको मोटापे से दूर रखना है तो…

आज के इस वैज्ञानिक युग में शारीरिक श्रम कम ही व्यक्ति करते हैं। मानसिक श्रम ही आज के मनुष्य की जिंदगी बन गई है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर