बंगाल में महापर्व छठ को लेकर मुख्यमंत्री ममता ने की बड़ी घोषणा

महापर्व छठ पर बंगाल के सभी घाटों की सफाई कराएं जिलाशासक : ममता बनर्जी
* जहां घाट नहीं है, वहां अविलंब नये घाटों का निर्माण कराएं
* बंगाल सर्व धर्म समभाव की धरती है, यहां आपसी वैमनस्यता का कोई स्‍थान नहीं
सन्मार्ग संवाददाता
सिलीगुड़ीः मुुख्यमंत्री ममता बनर्जी का हिन्दीभा‌षियों के लिए प्रेम रविवार को उस वक्त छलक उठा जब वे बंगाल के हर जिले के जिलाशासक को महापर्व छठ के लिए घाटों की सफाई कराने का आदेश दिया। सिलीगुुड़ी के बाघाजतिन पार्क में विजया सम्मिलनी और शारद सम्मान कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यह आदेश दिया। उन्होंने राज्य के हर जिले के जिलाशासकों और प्रशासनिक अधिकारियों को कहा ‌कि जहां – जहां घाट हैं वहां तुरंत उसकी साफ – सफाई कराएं और जहां घाट नहीं है वहां अविलंब नये घाटों का निर्माण कराएं। छठ पूजा के आयोजन में किसी तरह की कमी नहीं हो इसका पूरा ख्याल रखने का भी आदेश उन्होंने प्रशासन को दिया।
आगामी 10-11 नवंबर को राज्य में सार्वजनिक छुट्टी
मुुख्यमंत्री ने कहा कि हिन्दीभाषियों के महापर्व छठ को लेकर आगामी 10-11 नवंबर को राज्य में सार्वजनिक छुट्टी की घोषणा की गयी है। उन्होंने कहा कि बंगाल सर्व धर्म समभाव का स्‍थान है। यहां सभी धर्मों का आदर सभी करते हैं। उन्होंने कहा कि आपका धर्म जरूर अलग हो सकता है लेकिन उत्सव में सबकी भागीदारी होती है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विकास तभी परवान चढ़ सकता है जब राज्य के सभी समुदायों के बीच आपसी भाईचारा और मैत्री का माहौल हो। उन्होंने कहा कि राज्य में अलगाव की रंच मात्र भी जगह नहीं है। उन्होंने राज्य के नागरिकों को हर काम को पूरे उत्साह से करने की सलाह दी और कहा कि पारदर्शिता रखकर काम करें। हताशा को त्याग पूरे चित्त लगाकर राज्य के विकास में अपना योगदान दें। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप यहां के कार्यक्रम को ही देख लीजिए, यहां सर्व धर्म का समावेश आपको स्वतः मिल जायेगा। मालदह से यहां राज्य की मंत्री साबिना यास्मिन, दक्षिण दिनाजपुर से बिप्लव मित्रा, उत्तर दिनाजपुर से यहां गुलाम रब्बानी तो जलपाईगुड़ी से बुलुुचिक बराईक, सिलीगुड़ी से गौतम देब और अलीपुरद्वार से सौरभ चक्रवर्ती तथा पहाड़ से अनित थापा सभी मिल जायेंगे। यहीं तो सही मायने में सामाजिक समरसता है। उन्होंने कहा कि बंगाल की धरती पर कहीं भेदभाव और आपसी वैमनस्यता की जगह ही नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जवाद चक्रवात : हावड़ा प्रशासन अलर्ट पर, जायजा लेने पहुंचे मंत्री

हावड़ा फेरी परिसेवा अस्थायी तौर पर बंद, कई ट्रेनें रद्द हावड़ा : जवाद को लेकर राज्य समेत हावड़ा में बारिश शुरू हो चुकी है। रविवार की आगे पढ़ें »

ऊपर