कोविड शवों के लिए श्मशान घाटों की बढ़ायी जाएगी संख्या : चंद्रिमा

कोलकाता : शहरी व विकास विभाग के साथ नगर निगम व नगरपालिकाओं की मंत्री बनी चंद्रिमा भट्टाचार्य की प्राथमिकता लगातार कोविड शवों की बढ़ती संख्या के कारण हो रही समस्या का निदान करना है। इसे लेकर आगामी दिनों में राज्य के अलग-अलग हिस्सों में श्मशान घाट तैयार करने की योजना है। मंत्री ने सन्मार्ग को बताया कि उन्होंने इस विषय पर विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की जिसमें इससे संबंधित मुद्दों पर चर्चा की गयी है।
नॉन कोविड शवों के लिए नया श्मशान बनाने की योजना
मंत्री ने बताया कि कोविड के कारण मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके कारण शवदाहों को लेकर समस्या देखी जा रही है। हम इसके लिए तैयार हैं और इस समस्या को दूर करने के लिए नये श्मशान घाटों को तैयार किया जाएगा। योजना बनायी जाएगी कि नॉन कोविड शवदाह ​जिन श्मशान घाट में होता है उसे कोविड शवों के दाह के लिए इस्तेमाल किया जाए तथा नॉन कोविड शवों के लिए नए श्मशान घाट तैयार हों। इसके लिए अधिकारियों को जल्द सर्वे कर काम चालू करने को बोल दिया गया है।
लकड़ी की चूल्ही होगी प्राथमिकता
इधर अधिकारियों की माने तो कोविड शवों के दाह संस्कार के लिए लकड़ी की चूल्ही तैयार करने पर अधिक जोर देने की बात कही गयी है क्योंकि ​बिजली की चूल्ही तैयार करने में कम से कम 18 दिनों का वक्त लगता है जो इस समय संभव नहीं है। इसलिए बिजली चालित चूल्ही के साथ ही लकड़ी की चूल्ही अधिक संख्या में बनाने की योजना है।
पोस्ता प्लाईओवर भी जल्द होगा तैयार
चंद्रिमा भट्टाचार्य ने बताया कि पोस्ता फ्लाईओवर पूरे महानगर के लिए महत्वपूर्ण फ्लाईओवर के रूप में देखा जाता है। अगली बैठक में इस पर नतीजा निकाला जाएगा और कोशिश होगी कि जल्द इस पर काम चालू कर दिया जाए।
लंबित परियोजनाओं को पूरा करना पहली जिम्मेदारी
चूंकि शहरी व विकास विभाग के साथ नगर निगम व नगरपालिका विभाग अपने आप में एक बड़ा और महत्वपूर्ण विभाग है। एक तरह से पूरे राज्य की आधारभूत संरचना इसी पर टिकी है, इसलिए इस विभाग में लंबित पड़ी योजनाओं को जल्द पूरा करने के लिए कहा गया है।
पहले ही दिन अधिकारियों के साथ की बैठक
चंद्रिमा भट्टाचार्य ने पहले ही दिन विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने बताया कि 125 नगरपालिका और नगर निगम के प्रतिनिधियों को लेकर बैठक हुई। कुछ लोग वर्चुअल इसमें शामिल हुए। आज पहला दिन था धीरे-धीरे लंबित परियोजनाओं पर काम किया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पैरेंट्स ने नहीं दिलाया कुत्ता तो बेटे ने कर ली…

विशाखापट्टनम : एक नाबालिग लड़के ने सिर्फ इसलिए खुदकुशी कर ली कि उसे माता-पिता ने घर में पालने के लिए कुत्ता लाने से मना कर आगे पढ़ें »

5000 हेल्थ अस्टिटेंट को दी जाएगी मरीजों की देखभाल की ट्रेनिंग : केजरीवाल

नई दिल्ली : राज्यों ने जानलेवा कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। इसी क्रम में दिल्ली सरकार भी आगे पढ़ें »

ऊपर