चनाचूर बंगाल का है, जीआई टैग के लिए किया जाएगा आवेदन

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : रसगुल्ला के बाद अब चनाचूर को लेकर बंगाल से जीआई टैग के लिए आवेदन किया जाएगा। सोमवार को चनाचूर व्यवसायी समिति की ओर से प्रणव चंद्र ने इसकी जानकारी दी गयी। सोमवार को मिष्टी व्यवसायी संगठन के साथ चनाचूर व्यवसायी समिति की संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में बताया गया कि जल्द जीआई टैग के लिए आवेदन किया जाएगा। बताया गया कि दालमोठ, भुजिया से लेकर गठिया जैसे स्नैक्स बंगाल में ही तैयार किये गये है। इसी तरह चनाचूर भी राज्य में ही तैयार किया गया स्नैक्स है। मुखरोचक राज्य में ही तैयार किया गया है जो यहां सात दशक पुरानी संस्था है।
इसके पहले रसगुल्ला से लेकर जयनगर के मोआ तक के लिए बंगाल को जीआई टैग मिल चुका है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कोरोनाकाल भूल गया कुम्हारटोली, प्री कोविड वाली रौनक लौटने लगी

10 दिन पहले ही प्रतिमा आ जायेगी पंडालों में यूनेस्को ने बंगाल के दुर्गापूजा उत्सव को दिया है सांस्कृतिक विरासत का दर्जा एक नजर इस पर कोलकाता में आगे पढ़ें »

ऊपर