ब्रेकिंगः नारदा स्टिंग मामले में सीबीआई ने फिरहाद, शोभन, सुब्रत और मदन को किया गिरफ्तार

कोलकाताः ममता बनर्जी सरकार में कैबिनेट मंत्री फिरहाद हकीम की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। नारदा टेप स्कैम मामले में सीबीआई ने फिरहाद हकीम, शोभन चटर्जी, सुब्रत मुखर्जी और विधायक मदन मित्रा को गिरफ्तार कर लिया है। हाल ही में राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने फिरहाद हकीम समेत टीएमसी के शीर्ष नेताओं पर नारदा घोटाले में केस चलाने की मंजूरी दी थी। सीबीआई आज इस मामले में चार्जशीट दायर करेगी। फिरहाद की गिरफ्तारी के बाद उनके समर्थक उनके आवास पर पहुंचे हैं और प्रदर्शन कर रहे हैं।

नारदा घोटाले में केस चलाने की मंजूरी को देखते हुए राज्यपाल और टीएमसी नेताओं में टकराव बढ़ता जा रहा है। राज्यपाल की मंजूरी के बाद फिरहाद हकीम ने 10 मई को मंत्री पद की शपथ के बाद कहा था कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है और उन्हें क्लीन चिट मिलेगी। नारदा स्टिंग में शुभेंदु अधिकारी का नाम भी सामने आया था, जो टीएमसी छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुके हैं।

आज दायर हो सकती है चार्जशीट

नारदा मामले में सीबीआई द्वारा आज मंत्री सुब्रत चटर्जी, मंत्री फिरहाद हकीम, पूर्व मंत्री और एमएलए मदन मित्रा, कोलकाता के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी, अवकाश प्राप्त आईएएस अधिकारी एसएमए मिर्जा और टीएमसी नेता अपरुपा पोद्दार के खिलाफ चार्जशीट दायर करने की संभावना है।

क्या है नारदा स्टिंग

नारदा स्टिंग 2014 का मामला है। दिल्ली के एक पत्रकार ने कोलकाता पहुंच कर अपने आप को एक व्यवसायी बताया था। उसने कथित तौर पर टीएमसी के सात सांसदों, चार मंत्रियों, एक विधायक और एक पुलिस अधिकारी को इन्वेस्टमेंट के नाम पर नगद रुपये दिए थे। इस पूरे घटनाक्रम का पत्रकार ने स्टिंग बना लिया था। 2016 के विधानसभा चुनाव से पहले यह स्टिंग सामने आया था।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

हावड़ा में कम नहीं हो रहा राजीव के प्रति रोष

तृणमूल कर्मियों ने कहीं पुतला फूँका तो कहीं नारेबाजी की सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : मुकुल राय के तृणमूल में शामिल होने के बाद अब राजीव बनर्जी के आगे पढ़ें »

‘ट्रांसजेंडर होने के कारण नहीं हुआ मेरा कोविड टेस्ट’

मानवी ने की शिकायत, कहा, मानसिक तौर पर टूट गयी हूं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : केवल ट्रांसजेंडर महिला होने के कारण मेरा कोविड टेस्ट नहीं हो आगे पढ़ें »

ऊपर