‘कोलकाता फर्जी टीकाकरण घोटाले में सीबीआई जांच की कोई जरूरत नहीं’

कोलकाता : कोलकाता फर्जी टीकाकरण शिविर मामले में पुलिस अब तक देब समेत सात लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। इसके बाद कलकत्ता उच्च न्यायालय ने कथित नकली टीकाकरण विवाद की सीबीआई जांच की मांग वाली जनहित याचिका को यह कहते हुए ठुकरा दिया है कि इस स्तर पर इसकी आवश्यकता नहीं है। अदालत ने यह भी कहा कि वह राज्य के मामलों में हस्तक्षेप नहीं करेगी वहीं महाधिवक्ता ने अदालत को सूचित किया है कि जल्द ही आरोप पत्र दाखिल किया जाएगा। केएमसी के संयुक्त आयुक्त के रूप में देबंजन देब (28) ने कोलकाता में नकली टीकाकरण शिविर आयोजित किए थे। तृणमूल कांग्रेस की सांसद मिमी चक्रवर्ती सहित 100 से अधिक लोगों को नकली टीके लगवाने के बाद खुलासा होने पर उन्‍हें 23 जून को गिरफ्तार किया गया था।  

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सावन में बुधवार का दिन भी होता है बेहद खास, ये 5 उपाय दिखाएंगे कमाल

कोलकाता : हिन्दू धर्म में ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सावन का माह बेहद ही खास माना जाता है। यह माह पूर्ण रूप से भगवान शिव को आगे पढ़ें »

ऊपर