उपचुनाव नतीजे : भाजपा को जरूरत है एक रणनीतिकार की

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शनिवार को आसनसोल लोकसभा और बालीगंज विधानसभा उपचुनाव के नतीजे घोषित किये गये। दोनों ही सीटों पर तृणमूल को मिली भारी मतों से जीत के बाद एक बात स्पष्ट है कि अब भाजपा को एक चुनावी रणनीतिकार की अत्यंत आवश्यकता है। पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने गत विधानसभा चुनाव में भाजपा की रणनीति संबंधी जिम्मेदारी संभाली थी, लेकिन चुनाव के नतीजों के बाद वह पुनः कोलकाता नहीं आये। पार्टी के एक वर्ग में उनके प्रति रोष के कारण ही संभवतः उन्होंने पश्चिम बंगाल को पलटकर नहीं देखा, लेकिन यह बात भी उतनी ही सटीक है कि ये कैलाश विजयवर्गीय की रणनीति का ही नतीजा था कि भाजपा पश्चिम बंगाल में 2 से 77 सीटों पर पहुंची थी।
विजयवर्गीय के नेतृत्व में विपक्षी पार्टी बनी भाजपा
भाजपा ने विधानसभा चुनाव में 200 से अधिक सीटों का टार्गेट तय किया था। चुनाव में हार के पीछे पार्टी के एक वर्ग ने पूरा दोष कैलाश विजयवर्गीय पर मढ़ दिया था और कहा गया कि तृणमूल से नेताओं को भाजपा में शामिल कराने के कारण ही पार्टी चुनाव हार गयी। हालांकि वे यह भूल गये कि उन नेताओं के साथ उनका कुछ जनाधार भी आया था जिसका पूरा न सही मगर कुछ लाभ तो भाजपा को जरूर मिला था। इस कारण ही जो भाजपा पश्चिम बंगाल में कुछ नहीं थी, उसे मुख्य विपक्षी पार्टी का दर्जा गत विधानसभा चुनाव में मिला था।
कुछ यूं थी कैलाश विजयवर्गीय की रणनीति
गत वर्ष विधानसभा चुनाव के समय तृणमूल को घेरने हेतु कैलाश विजयवर्गीय ने कई रणनीतियां अपनायी थीं। चाहे तृणमूल से बड़े नेताओं को तोड़ना हो या फिर केंद्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को आम लोगाें तक पहुंचाना हो। इन सभी रणनीतियों के बदौलत विजयवर्गीय ने पश्चिम बंगाल में कमल खिलाने का प्रयास किया था। केवल टीवी पर सत्ताधारी दल की आलोचना करने के पक्ष में वह नहीं थे बल्कि जनसंपर्क, बूथ कमेटी जैसी चीचों पर उन्होंने अधिक जोर दिया था।
रणनीतिकार की कमी खल रही भाजपा को
ये रणनीति की कमी का ही नतीजा है कि गत विधानसभा चुनाव के बाद अब तक हुए सभी उपचुनावों में भवानीपुर और शांतिपुर को छोड़कर कहीं भी पार्टी अपनी जमानत तक नहीं बचा पायी। प्रदेश के नेता चुनावी रणनीति बनाने में पूरी तरह विफल रहे हैं और पार्टी को कैलाश विजयवर्गीय जैसे ही एक रणनीतिकार की अत्यंत आवश्यकता है। विशेषकर 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में अगर भाजपा को बंगाल से अच्छी सीटें चाहिये तो फिर यहां तुरंत एक रणनीतिकार भेजे जाने की जरूरत है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जाली नोट से बाइक खरीदने आया युवक हुआ गिरफ्तार

इंटरनेट से 2 हजार रुपये के नोटों का फोटो डाउनलोड कर कराया था प्रिंट ओएलएक्स पर स्पोर्ट्स बाइक का विज्ञापन देख अभियुक्त ने किया था संपर्क सन्मार्ग आगे पढ़ें »

ऊपर