अलविदा ! चलो छुटकारा तो मिला…

बिप्लव के इस्तीफे पर तृणमूल का कटाक्ष 2024 के लिए लॉच हुआ वेबसाइट,
त्रिपुरा के राजनीतिक दंगल में तृणमूल भी शामिल’इंडिया वॉन्ट्स ममता दी’
सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाता/त्रिपुरा : त्रिपुरा के विधानसभा को अभी एक साल का वक्त है, उसके पहले वहां के मुख्यमंत्री बिप्लव देव के इस्तीफे से हर किसी को चौका दिया है। इस्तीफे से पहले बिप्लव ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। इधर नये सीएम के नाम की घोषणा भी कर दी गयी है। इस बीच इस पूरे प्रकरण पर तृणमूल कांग्रेस की ओर से तीखा तंज कसा गया है। तृणमूल के आधिकारियक ट्वीटर अकांउट से ट्वीट कर प्रतिक्रिया दी गयी है। इसमें लिखा है, ‘अलविदा.. चलो छुटकारा तो मिला जिसने त्रिपुरा में हजारों लोगों को मायूस किया है। बहुत ज्यादा नुकसान कर चुके थे। इतना कि भाजपा आलाकमान भी उनकी नाकामयाबियों से तंग आ चुकी थी। राज्य में तृणमूल ने जो हासिल किया, उससे भाजपा के लोग बहुत परेशान हैं,परिवर्तन अनिवार्य है।’
तृणमूल कांग्रेस की युवा अध्यक्ष सयानी घोष ने बिप्लब देव के इस्तीफे पर ट्वीट किया, उन्होंने लिखा, ‘खेला होबे. त्रिपुरा में खेला जाएगा।’
त्रिपुरा के रजिनीतिक दंगल में तृणमूल भी
त्रिपुरा की राजनीति में तृणमूल ने एंट्री ले ली है। हाल ही में यहां पार्टी की ओर से राज्य कमेटी का विस्तार भी किया गया। अब खुद पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बंद्योपाध्याय वहां नजर रख रहे है। त्रिपुरा के साथ पार्टी असम पर भी नजर रखे है। त्रिपुरा को लेकर पार्टी की तरफ से जमीनी स्तर पर तैयारी चालू कर दी गयी है। बिप्लव का इस्तीफा तथा नये सीएम की घोषणा तृणमूल के लिए अच्छा मौका माना जा रहा है जनता के बीच परिवर्तन की हवा का रुख मोड़ने के लिए।
तृणमूल का नया वेबसाइट ‘इंडिया वॉन्ट्स ममता दी’
2024 की तैयारी के लिए तृणमूल जुगत में लगी है। शनिवार को पार्टी की तरफ से इसी कड़ी के तहत नया वेबसाइट लॉच किया गया है जिसका नाम ‘इंडिया वॉन्ट्स ममता दी’ यानी देश को ममता दीदी चाहिए। पार्टी के नेता ने बताया कि इस वेबसाइट की मदद से पूरे देश में अभियान चलाया जाएगा जिसमें ममता बनर्जी को महिला पीएम के तौर पर पेश किया जाएगा।
2024 में बनाएंगे पहला बंगाली पीएम
इस वेबसाइट की लॉन्चिंग के मौके पर कहा गया है कि बंगाल में सीएम बनने के बाद अब देश की जनता भी ममता बनर्जी को चाह रही है। इस दौरान नेताओं ने संकल्प लिया कि देश में पहला बंगाली प्रधानमंत्री बनाना है। मालूम हो कि अब क देश में बंगाल से एक भी प्रधानमंत्री नहीं बना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पानीहाटी में तृणमूल कार्यालय पर बमबारी

पानीहाटी : खड़दह थाना अंतर्गत पानीहाटी के एंजेल नगर इलाके में कुछ समाज विरोधियों ने पहले बमबारी की। इसके बाद बीटी रोड मातारंगी भवन नामक आगे पढ़ें »

ऊपर