नहीं कराये जा सकते उपचुनाव, भाजपा ने केंद्रीय नेताओं को बताये 8 कारण

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : विधानसभा चुनाव के 6 महीने के अंदर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कहीं से चुनाव लड़कर जीतना अत्यंत आवश्यक है। इस कारण एक तरफ जहां तृणमूल की ओर से उपचुनाव करवाने की मांग पर जोर दिया जा रहा है तो वहीं भाजपा फिलहाल उपचुनाव नहीं चाह रही है। भाजपा का मानना है कि मौजूदा परिस्थिति में किसी भी हाल में राज्य में उपचुनाव संभव नहीं है। 8 कारणों का उल्लेख कर प्रदेश भाजपा की ओर से कुछ ऐसा ही केंद्रीय नेतृत्व को बताया गया है। उपचुनाव नहीं करवाने के 8 कारण बताते हुए केंद्रीय नेतृत्व को चिट्ठी दी गयी है।
* राज्य में कोरोना की परिस्थिति है।
* लोकल ट्रेनें राज्य में बंद हैं, बसें भी कम लोगों के साथ चल रही हैं।
* सितम्बर व अक्टूबर महीने के मध्य ही तीसरी लहर के आने की आशंका है।
* अक्टूबर महीने में दुर्गा पूजा व अन्य कई त्योहार हैं।
* पश्चिम बंगाल सरकार ने खुद यहां कोविड प्रोटोकॉल जारी कर रखे हैं। भाजपा के हर कार्यक्रमों में बाधा दी जा रही है।
* दिलीप घोष, शुभेंदु अधिकारी, देवश्री चौधरी समेत वरिष्ठ भाजपा नेताओं को पुलिस ने महामारी कानून के तहत गिरफ्तार किया था।
* कोरोना की बात कहकर राज्य सरकार ने खुद ही 122 पालिका चुनावों को रोककर रखा है।
* राज्य में जो सरकार चल रही है, उसे पूर्ण बहुमत प्राप्त है, 7 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव नहीं होने से भी कोई संकट नहीं है। इस महीने ही चुनाव आयोग ने चुनाव पर राजनीतिक पार्टियों की सलाह जानने के लिए चिट्ठी दी है। सूत्रों के अनुसार, भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व ही आयोग में अपनी बात रखने जाएगा। इससे पहले ही प्रदेश भाजपा की ओर से ये चिट्ठी दी जा रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

भाटपाड़ा में भाजपा सांसद के घर पहुंचे एनआईए अधिकारी

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बैरकपुर के सांसद सह प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह के भाटपाड़ा स्थित निवास स्थल पर बमबारी मामले में जांच के लिए आगे पढ़ें »

ऊपर