पर हमारा अनशन जारी रहेगा : कहा हाई कोर्ट में

आरजीकर के आंदोलनकारी छात्र 29 को मिलेंगे स्वास्थ्य सचिव से
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : हाई कोर्ट के जस्टिस देवांशु बसाक और जस्टिस रवींद्रनाथ सामंत के डिविजन बेंच के अनुरोध के बावजूद आरजीकर मेडिकल कालेज एंड हॉस्पिटल के आंदोलनकारी छात्र-छात्राएं अपना अनशन समाप्त करने को तैयार नहीं हुए। उन्होंने बड़ी विनम्रता से कहा हमारा अनशन 29 अक्टूबर तक जारी रहेगा। जस्टिस देवांशु बसाक की पहचान एक बेहद सख्त जज के रूप में है पर सोमवार को उनका आचरण एक अभिभावक की तरह था। डिविजन बेंच ने आदेश दिया है कि आंदोलनकारी 29 अक्टूबर को स्वास्थ्य सचिव से मिलेंगे और वे उनकी समस्याओं को सुलझाने का प्रयास करेंगे।
सुनवायी के पहले दौर में आंदोलनकारियों का कोई प्रतिनिधि नहीं था इसलिए बुलाने का आदेश देने के साथ ही सुनवायी दोपहर ढाई बजे तक के लिए टाल दी गई। डिविजन बेंच ने अपने आदेश में कहा है कि आंदोलनकारी कोर्ट को दिए गए अपने पत्र का अनुपालन करेंगे। अस्पताल के प्रवेश और निकास पर कोई जाम नहीं लगाया जाएगा। मरीजों के इलाज या आउटडोर में कोई बाधा नहीं पहुंचायी जाएगी। अस्पताल परिसर में लाउडस्पीकर का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। आंदोलनकारी स्वास्थ्य सचिव से 29 अक्टूबर को ग्यारह बजे मिलेंगे। जस्टिस बसाक ने पहले 27 अक्टूबर को मिलने की बात कही लेकिन एडवोकेट जनरल ने बताया कि स्वास्थ्य सचिव शहर से बाहर हैं और 29 अक्टूबर को ही उनसे मुलाकाता हो पाएगी। आरजीकर में पिछले 22 दिनों से अनशन चल रहा है और फिलहाल तीन अनशन पर हैं और दो को आईसीयू में भर्ती कराया गया है। जस्टिस बसाक ने आंदोलनकारी देवलीना बसु सहित तीन से बात की और उनसे अनशन समाप्त करने का अनुरोध किया, क्योंकि यह चार दिनों का समय उन्हें बहुत लंबा लग रहा था। इस दौरान उन्होंने किसी और अधिकारी से मिलने की बात कही तो देवलीना ने साफ कर दिया कि स्वास्थ्य सचिव के अलावा उन्हें और किसी पर भरोसा नहीं है। जस्टिस बसाक और जस्टिस सामंत ने देवलीना सहित तीनों को बहुत समझाया पर देवलीना ने क्षमा मांगते हुए कह दिया कि वे 29 अक्टूबर तक अनशन करते हुए स्वास्थ्य सचिव का इंतजार करेंगे। एडवोकेट सुमन सेनगुप्ता ने यह पीआईएल दायर की है। इसकी अगली सुनवायी दो नवंबर को होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कोविड से ठीक हो चुके लोगों को ओमिक्रॉन से कितना खतरा? जानिए क्या कहते हैं विशेषज्ञ

भारत में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले तेजी से बढ़ते हुए देखे जा रहे हैं। हालिया रिपोर्टस के मुताबिक कोरोना के सबसे खतरनाक माने आगे पढ़ें »

विक्की कौशल ने बताया, कैसी पत्नी चाहते हैं वे? सुनकर कैटरीना के फैन्स हो जायेंगे खुश

…और गोवा में तृणमूल को मिल गया साथ

सर्दियों में सेक्स क्यों है ज्यादा मजेदार, जानें?

सिहरन पैदा करनेवाली ऑनर किलिंग : महाराष्ट्र के औरंगाबाद में गर्भवती बहन का सिर धड़ से किया अलग, फिर भाई पहुंचा थाने

गर्भ में ही 7 महीने का बच्चा खो चुकीं बिंदू, इस हादसे के बाद दोबारा कभी मां नहीं बन…

आईसीसी रैंकिंग में नंबर-1 बना भारत

नागालैंड की घटना पर एक्शन में सेना, जांच के लिए गठित की कोर्ट ऑफ इंक्वायरी

विक्की-कटरीना आज जायेंगे राजस्थान, मुंबई में हो सकती है रजिस्टर्ड मैरिज

तृणमूल सांसद नहीं गये नागालैंड

ऊपर