सरकार के कदम से व्यवसायी वर्ग खुश, कहा, सबको ध्यान में रखकर लिया गया सख्ती का निर्णय

शॉपिंग मॉल्स, रेस्टोरेंट व बार का समय और क्षमता की गयी कम नये साल के पहले रविवार को मॉल्स में फुटफॉल हुआ कम

सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाता : राज्य में कोविड के साथ ही बढ़ रहे ओ​मिक्रॉन के हालातों को देखते हुए रविवार को कई तरह की पाबंदियों की घोषणा की गयी। राज्य में स्कूल, कॉलेज व विश्वविद्यालय एक बार फिर बंद कर दिये गये। वहीं व्यवसाय की बात करें तो शॉपिंग मॉल्स, रेस्टोरेंट, बार खुले तो रहेंगे, लेकिन इनकी क्षमता और समय दोनों ही कम किये गये हैं। हाल में इनकी क्षमता 50 से बढ़ाकर 70% की गयी थी जिसे पुन‍ः 50% करने की घोषणा राज्य सरकार की ओर से की गयी। इसके अलावा समय भी 11 बजे के बजाय 10 बजे तक कर दिया गया है। लगभग एक से डेढ़ महीने पहले ही राज्य सरकार ने शॉपिंग मॉल्स, बार व रेस्टोरेंट के बंद होने का समय रात 11 बजे तक किया था जबकि अब पुनः ये रात10 बजे तक बंद हो जाएंगे। राज्य सरकार की इस घोषणा पर मॉल प्रबंधन से लेकर रेस्टोरेंट एसो​सिएशन और बार वालों ने खुशी जाहिर की। सबका कहना है कि कम से कम अर्थव्यवस्था इससे पूरी तरह नहीं रुकेगी। ऐसे में सभी की ओर से इसे राज्य सरकार का बेहतर फैसला बताया गया। राज्य सरकार का संतुलित फैसला मर्लिन ग्रुप के चेयरमैन व क्रेडाई पश्चिम बंगाल के प्रेसिडेंट सुशील मोहता ने कहा, यह पश्चिम बंगाल सरकार का काफी संतुलित कदम है। अर्थव्यवस्था पर कोई असर डाले बगैर इस तरह के कदम से काफी सकारात्मक असर पड़ेगा। हम सभी को कोविड नियमों का पालन करते हुए चलने की आवश्यकता है। उम्मीद है कि अगले एक महीने के अंदर इस परिस्थिति से भी हम उभर जाएंगे। रेस्टोरेंट इण्डस्ट्री से जुड़े लाखों लोगों के हित में फैसला होटल एण्ड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ ईस्टर्न इंडिया (एचआरएईआई)के प्रेसिडेंट सुदेश पोद्दार ने सन्मार्ग को बताया, पहले की तरह ही समय और क्षमता दोनों कर दिये गये हैं। राज्य सरकार के इस फैसले से रेस्टोरेंट इण्डस्ट्री से जुड़े लाखों लोग खुश हैं क्योंकि इससे अर्थव्यवस्था चलती रहेगी। ऐसे में सबका रोजगार भी बचा रहेगा नहीं तो पूरी अर्थव्यवस्था बंद हो जाने पर रोजगार पर खतरा पैदा हो जाता। ऐसे में राज्य सरकार का ये सकारात्मक फैसला है। उन्होंने कहा ​कि अपने सदस्यों को आज हिदायत भेज दी जाएगी कि रात 9.30 बजे तक रेस्टोरेंट का काम पूरा कर लें और अंतिम ऑर्डर 9.15 बजे तक ही लें। इससे ग्राहकों को भी अपने घर लौटने का समय मिल जाएगा क्योंकि रात 10 बजे से फिर नाइट कर्फ्यू भी चालू हो जाएगा। ट्रेडर्स के पक्ष में लिया गया बेहतरीन निर्णय साउथ सिटी प्राेजेक्ट्स के वाइस प्रेसिडेंट मनमोहन बागड़ी ने कहा कि यह राज्य सरकार का स्वागत योग्य फैसला है क्योंकि बढ़ते मामलों को देखते हुए अहम निर्णय लेने भी जरूरी थे। ऐसे में इस फैसले से अर्थव्यवस्था भी चालू रहेगी। यह एक तरह से ट्रेडर्स के ​हित में लिया गया बेहतरीन निर्णय है। रात में 10 बजे तक समय मिलने के कारण डिनर बिजनेस पर भी असर नहीं पड़ेगा। कोविड काल में ऐसे भी काफी लोगों ने जल्दी डिनर की आदत डाल ली है। रात 9.30 बजे तक मॉल और फूड कोर्ट समेत अन्य चीजें बंद कर दी जाएंगी ताकि रात 10 बजे से नाइट कर्फ्यू में लोगों को दिक्कत ना हो। रात 12 बजे तक बंद होने पर प्रेशर होता कम कैदी किचन के डायरेक्टर अंकित माधोगड़िया भी राज्य सरकार के इस फैसले से संतुष्ट हैं, लेकिन उनका मानना है कि रेस्टोरेंट बंद होने का समय रात 12 बजे होने पर रश आवर यानी रात 8 से 10 बजे तक के समय को डिवाइड किया जा सकता था। ऐसा होने पर प्रेशर कम होता और सोशल डिस्टेंसिंग और बेहतर तरीके से मेंटेन की जा सकती थी। उन्होंने कहा कि रात 9.30 बजे से ही ग्राहकों को जाने के लिए कहना पड़ता है मगर कई ग्राहक 10 बजे तक ही निकलते हैं। ऐसे में रात 10 बजे से नाइट कर्फ्यू लगने पर उन्हें भी ये समस्या होगी। राज्य सरकार का स्वागत योग्य कदम वास्कुलर बार के मालिक शंभू पाण्डेय ने कहा कि राज्य सरकार की नीति अच्छी है और स्वागत याेग्य कदम है। जिस तरह कोविड के मामले बढ़ रहे हैं, ऐसे में इस तरह की पाबंदी आवश्यक थी। उन्होंने कहा कि हम रात 9.30 बजे तक ग्राहकों से बार छोड़ देने के लिए कहेंगे ताकि नाइट कर्फ्यू से पहले वे घर लौट जाएं। साल के पहले रविवार को मॉल में कम हुई भीड़ इधर, ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए संभवतः अब लोग सतर्क हो रहे हैं। शायद यही कारण रहा कि नये साल के पहले रविवार को मॉल में लोगों की भीड़ कम उमड़ी। मनमोहन बागड़ी ने बताया कि इस रविवार को मॉल की क्षमता के अनुसार 30% ही भीड़ हुई। सामान्य तौर पर जब भी कोविड के मामले बढ़े हैं तो लोगों की भीड़ मॉल में कम हाेने लगती है। अब ओमिक्रॉन के खतरे के कारण भीड़ कम होती नजर आ रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

विदेश पढ़ने गये बेटे की हालत पर चिंता में दिन काट रहा है बुजुर्ग दंपति

पानीहाटी : पानीहाटी पालिका के 13 नंबर वार्ड सोदपुर रवींद्रनाथ रोड निहारिका अपार्टमेंट में रहने वाले बुजुर्ग दंपति सनत कुमार चौधरी व काकोली चौधरी की आगे पढ़ें »

ऊपर