बसें कम, यात्रियों में रोष, सड़क पर प्रदर्शन

घंटों इंतजार करते रह गए यात्री

सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाताः लॉकडाउन के बीच मिल रही छूट के बाद बड़े पैमाने पर कार्यालयों में यात्रियों का पहुंचना शुरू हुआ है। इस बीच देखा जा रहा है कि बसें काफी कम हैं। ऐस में लोगों को व्यापक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आलम यह है कि कई बस स्टैण्ड पर लंबी कतार लग जा रही है। शनिवार को कुछ निजी बसें भी महानगर की सड़कों पर नजर आईं, हालांकि यह भी नाकाफी थी। बसों में नियमानुसार फिलहाल 20 या‌त्रियों को ही लेकर जाया जा रहा है, ऐसे में कुछ देर में ही सीटें भर जा रही हैं। परिवहन विभाग ने कहा है कि यात्रियों की संख्या को देखते हुए धीरे-धीरे लोगों की सुविधा के लिए बसों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

सेंट्रल एवेन्यू में करीब 4 घण्टे से काफी यात्री बस के लिए इंतजार कर रहे थे। हालांकि सरकारी बसें आ तो रही थीं, लेकिन दरवाजा बंद था, या फिर पहले ही यात्री सवार हो जा रहे थे। आखिरकार कुछ यात्रियों ने अचानक सोदपुर जाने वाली ई-32 की एक बस को रोककर प्रदर्शन शुरू कर दिया।

ऑफिस तो पहुंचे, अब कैसे जाएं घर-

सोदपुर से बड़ाबाजार में काम करने के लिए पहुंची एक महिला कर्मचारी ने कहा कि ऑफिस तो किसी तरह से पहुंच गई थी। हालांकि करीब साढ़े चार घण्टे से सोदपुर स्थित घर जाने के लिए बस नहीं मिल पा रही थी। समझ में नहीं आ रहा है कि यदि बसें ही नहीं हैं, तो हम काम पर कैसे आएंगे और घर जाएंगे। काफी देर तक चले प्रदर्शन के कारण ट्रैफिक परिसेवा भी कुछ समय के लिए प्रभावित हुई। हालां‌कि पुलिस के हस्तक्षेप के बाद बस को रवाना किया गया।

बस में थे अधिक यात्री, पुलिस ने उतारा

वहीं बसों पर निगरानी बढ़ा दी गई है। सेंट्रल एवेन्यू में ही एक सरकारी बस में जब 20 से अधिक यात्री नजर आए तो लोगों ने पुलिस से शिकायत की। इसके बाद पुलिस ने अधिक यात्रियों को बस से उतार ‌दिया।

कुछ निजी बसें चलीं, ले‌किन अतिरिक्त किराया वसूल रहे कंडक्टर

वहीं शनिवार को महानगर के कई जगहों पर कुछ निजी बसें तो नजर आईं। हालांकि यात्रियों ने आरोप लगाया कि उनसे अतिरिक्त किराये लिए जा रहे हैं। यदि बस का किराया 7 रुपये है, तो उनसे 10 रुपये लिया गया। वहीं कई जगहों पर ऑटो की ओर से भी अतिरिक्त किराया लिए जाने की शिकायतें मिल रही हैं। बस व आटो संगठन किराए में वृद्धि की मांग कर रहे हैं।

आज बस संगठन की बैठक

वहीं निजी बस संगठन की ओर से रविवार को एक बैठक की जाएगी। इसके बाद ही निजी बसों को उतारने पर निर्णय किया जाएगा। संभावना जताई जा रही है कि एक जून से निजी बसें अपना परिचालन शुरू कर सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैं गरीबों की मदद कर रहा था, इमरान के मंत्री छुट्टियां मना रहे थे : अफरीदी

इस्‍लामाबाद : शाहिद अफरीदी ने इशारों में इमरान खान सरकार पर निशाना साधा। अफरीदी के मुताबिक, इमरान सरकार में एकता की कमी है और ये आगे पढ़ें »

अक्टूबर तक फिर रिंग में लौट आयेंगे विजेंदर

नयी दिल्ली : पिछले छह महीने से रिंग से दूर भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह को अगले तीन महीने में रिंग में उतरने की आगे पढ़ें »

ऊपर