आज से गहरा सकता है बस संकट

 

कोलकाताः कोरोना वायरस महामारी के कारण पहले से ही निजी बसों की संख्या सड़कों पर कम है। दूसरी तरफ पुलिस व प्रशासन ने बड़े पैमाने पर बस व मिनी बसों का अधिग्रहण पूजा को लेकर किया है। ऐसे में संभावना है कि बुधवार से सड़कों पर निजी बसों का संकट गहरा सकता है। उक्त बातें ज्वाइंट काउंसिल ऑफ बस सिंडिकेट के महासचिव तपन बनर्जी ने कही। उन्होंने कहा कि हमने बार-बार कोलकाता पुलिस से बसों को पूजा के दौरान अधिग्रहण (रिक्विजिशन) न करने की मांग की गई थी। इसके बावजूद बसों को पुलिस व प्रशासन ने लिया है। इससे समस्या बढ़ सकती है।

बसों को रिक्विजिशन किए जाने से यात्रियों को असुविधा: टीटू साहा

सिटी सबर्बन बस सर्विस के महासचिव टीटू साहा ने कहा कि पहले से ही सड़कों पर निजी बसें कम चल रही हैं। केवल 30 से 40 फीसदी बसें ही महानगर की सड़कों पर हैं। ऐसे में बसों को रिक्विजिशन किए जाने से यात्रियों को असुविधा हो सकती है। यात्रियों की मांग के अनुरूप बसों को देना एक बड़ी चुनौती होगी।  वेस्ट बंगाल बस एंड मिनी बस आनर्स एसोसिएशन के संयुक्त सचिव प्रदीप नारायण बोस ने कहा कि हमने देखा है कि पहले जहां बसें 80% तक चलने लगी थीं, अनलॉक में यह धीरे-धीरे 30 से 40 % पर आ गई थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विराट अच्छे कप्तान लेकिन रोहित उनसे बेहतर : गंभीर

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी गौतम गंभीर ने टी-20 टीम कप्तानी पांच बार के आईपीएल विजेता रोहित शर्मा को सौंपने की आगे पढ़ें »

साढ़े चार महीनों में 22 कोविड-19 जांच करायी : गांगुली

मुंबई : बीसीसीआई अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने मंगलवार को खुलासा किया कि महामारी के बीच अपनी पेशेवर प्रतिबद्धताओं को पूरा करने आगे पढ़ें »

ऊपर