स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण को लेकर रणक्षेत्र बना बर्नपुर

स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर सायनी के माल्यार्पण करने को लेकर हुआ विरोध
विरोध करने वालों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज
बर्नपुर : आसनसोल दक्षिण विधानसभा केंद्र की तृणमूल प्रार्थी सायनी घोष को लेकर जारी विवाद का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को तृणमूल प्रार्थी सायनी घोष बर्नपुर में पहली चुनावी रैली में शामिल होने पहुंची। इसी दौरान बारी मैदान समीप स्थित स्थापित स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर सायनी घोष के माल्यार्पण करने के पहले ही जमकर हंगामा हुआ। सायनी घोष द्वारा स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण के दौरान विरोध की आशंका को लेकर वहां पहुंची पुलिस ने स्थिति का जायजा लिया। आरोप है कि प्रतिमा परिसर में मौजूद बर्नपुर स्वामी विवेकानंद जन्मोत्सव समिति सदस्यों के साथ भाजपा कर्मियों को पुलिस ने वहां से जाने का दबाव बनाया। इसे लेकर कमेटी सदस्यों, भाजपा कर्मियों के साथ पुलिस की जमकर नोक-झोंक हुई। स्थिति बिगड़ती देख पुलिस द्वारा लाठी चार्ज कर कमेटी सदस्यों व भाजपा कर्मियों को खदेड़ दिया गया। घटना की जानकारी पाकर पहुंची भाजपा जिला नेत्री सुधा देवी ने बताया कि स्वामी विवेकानंद प्रतिमा परिसर में मौजूद कार्यालय में शिवरात्रि को लेकर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को लेकर कमेटी सदस्य बैठक कर रहे थे। इसी दौरान पुलिस ने वहां पहुंचकर जगह खाली करने का दबाव बनाया। साथ ही कमेटी सदस्यों, कर्मियों को गालियां दी। परिसर में मौजूद कमेटी कर्मियों पर लाठी चार्ज कर भगा दिया। पुरुषों के साथ महिला कर्मियों की भी पिटाई की गई, जिसमें कुछ कर्मी घायल हो गये। किसी पार्टी के उम्मीदवार के आने के पहले दूसरे दल के कर्मी, समर्थकों को बेवजह भगाना सही नहीं है। घटना के विरुद्ध शिकायत की जायेगी। स्वामी विवेकानंद जन्मोत्सव समिति के महासचिव तरुण बनर्जी ने बताया कि शिवरात्रि को लेकर बैठक की जा रही थी। इसी बीच वहां पहुंची पुलिस सदस्यों से यह कहकर उन्हें हटाने लगी कि तृणमूल प्रार्थी सायनी घोष यहां स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने आ रही हैं। सायनी घोष द्वारा स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने का कुछ सदस्यों ने विरोध जताया। उन्होंने कहा कि जिसने भगवान शिव के साथ हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किया हो, वह स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण नहीं कर सकती है। उसे छोड़कर किसी भी दल का प्रार्थी यहां प्रतिमा पर माल्यार्पण करे, उसका विरोध नहीं किया जायेगा। सदस्यों के विरोध को देखते हुए पुलिस कर्मियों ने बल का प्रयोग करते हुए लाठी चार्ज कर कमेटी सदस्यों को भगा दिया। परिसर में लगे गेट को तोड़ दिया गया। दूसरी तरफ घटना को लेकर तनाव को देखते हुए स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा समक्ष भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। वहीं स्टेशन रोड से चुनाव प्रचार आरंभ कर बारी मैदान समीप पहुंची तृणमूल प्रार्थी सायनी घोष ने तृणमूल कर्मी, समर्थकों के साथ स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। हालांकि पुलिस द्वारा घटना के दौरान लाठी चार्ज करने से इंकार किया गया। वहीं इस मुद्दे पर सायनी घोष ने कहा कि भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए इस प्रकार की हरकत कर रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल ने फिर 3 चरणों के चुनाव को 1 चरण में कराने की मांग की

सीईओ आरिज आफताब को सौंपा ज्ञापन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः तृणमूल कांग्रेस ने एक बार फिर से कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर राज्य के तीन चरणों के मतदान आगे पढ़ें »

90 ड्राइवरों व गार्ड के संक्रमित होने के बाद लोकल ट्रेनों का संचालन प्रभावित

कोलकाता : पूर्व रेलवे ने मंगलवार को कहा कि 90 ड्राइवरों और गार्ड के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उसने अभी तक सियालदह आगे पढ़ें »

ऊपर