बहन की निकाह के दिन ही भाई का निकला जनाजा

जोड़ासांको मकान हादसे में मो.तौफिक की ह‌ुई थी मौत
हादसे में मालिक और कर्मचारी भी बुरी तरह हुए घायल
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : घर में बेटी की निकाह की तैयारियां पूरी कर ली गयी थी। ऐन मौके पर कुछ बाकी सामान खरीदने के लिए घर से छोटा बेटा बाजार के लिए निकला था। हालांकि भगवान को कुछ और ही मंजूर था। शनिवार की शाम बेनियापुकुर के गोराचंद रोड का रहनेवाला मो. तौफिक जब बाइक से रवीन्द्र सरणी स्थित मकान के नीचे गुजर रहा था तभी मकान का हिस्सा ढहने से वह मलबे के नीचे दब गया। घटना जोड़ासांको थानांतर्गत मुंशी सदरुद्दीन लेन व रवीन्द्र सरणी क्रॉसिंग की है। घायल मो. तौफिक को आनन-फानन में उद्धार कर मेडिकल कॉलेज व अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने जांच के दौरान पाया कि 20 वर्षीया मो. तौ‌फ‌िक बेनियापुकुर के गोरांचद का रहनेवाला है। वह शनिवार की शाम 5 बजे अपनी मोटरसाइकिल पर एम.जी रोड मेट्रो स्टेशन से मुंशी सदरुद्दीन लेन होकर बड़ाबाजार की तरफ जा रहा था तभी मिश्रा भवन के निकट पहुंचने पर बालकोनी का मलबा उसके ऊपर आ गिरा। शनिवार की रात को जब परिजनों को मो. तौफिक की मौत की खबर मिली तो शादी के घर में खुशियों की जगह मातम छा गया। दूल्हन बनने वाली उसकी बहन का रो-रो कर बुरा हाल है।
निकले थे व्यवसाय करने पर मिली मौत
वहीं दूसरी ओर हादसे में मृत राजीव गुप्ता पेशे से स्वर्ण व्यवसायी है। राजीव का दमदम में स्वर्ण आभूषण की दुकान है। शनिवार की शाम वह सोना खरीदने के लिए अपने कर्मचारी प्रदीप दास के साथ बड़ाबाजार आया था। शाम को 5 बजे जब दोनों बड़ाबाजार से बहूबाजार की तरफ जारहे थे तभी उनके ऊपर मलबा आ गिरा। हादसे में राजीव और प्रदीप को गंभीर चोट आयी। दोनों को पहले विशुद्धानंद अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने राजीव को मृत घोषित कर दिया। वहीं प्रदीप की हालत गंभीर देखते हुए पहले मेडिकल कॉलेज और फिर आर.जी कर मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में रेफर कर दिया गया। दिवाली से पहले ग्राहकों से मिले ऑर्डर को पूरा करने के लिए राजीव अपने कर्मचारी को लेकर बड़ाबाजार पहुंचाथा। दोनों ने आभूषण का ऑर्डर दिया था। इन तीनों के अलावा हादसे में घायल सुभाष हाजरा भी अपनी स्कूटी पर बड़ाबाजार से सेंट्रल एवेन्यू की तरफ जा रहा था। रवनीद्र् सरणी क्रॉस करके जब वह मुंशी सदरुद्दीन लेन पर पहुंचा तो उसके ऊपर मलबा आ गिरा। हुगली के रहनेवाले सुभाष के पैर में चोट लगी थी। उसे मेडिकल कॉलेज व अस्पताल से प्राथमिक इलाज के बाद छोड़ दिया गया। वहीं रविवार को मकान के खतरनाक हिस्से को तोड़ा गया। इस दौरान मुंशी सदरुद्दीन लेन को बंद कर दिया गया। प्रत्यक्षदर्शी पंकज सोनकर ने बताया कि शनिवार की शमा 5 बजे वह अपनी दुकान में मौजूद थे तभी दुर्घटना घटी। उन्होंने कहा कि राजीव गुप्ता और प्रदीप को वहां ड्यूटी कररहे ट्रैफिक कांस्टेबल ने वहां से जाने के लिए मना किया था लेकिन फिर वह दोनों आगे बढ़े और फिर उनके ऊपर मलबा आ गिरा। तीनों व्यक्त‌ि को मलबे के नीचे दबा देख वे वहां पहुंचे तीनों को मसबे के नीचे निकालकर तुरंत विशुद्धानंद अस्पताल पहुंचाया। पंकज के अनुसार इलाके में ऐसे और भी कई मकान है जो जर्जर अवस्था में हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मांग पर अड़े मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के छात्र

कोलकाता : आरजी कर मेडिकल के प्रिंसिपल के इस्तीफे की मांग पर अड़े मेडिकल स्टूडेंट्स ने निकाली रैली। इस मामले पर स्वास्थ्य भवन के अधिकारियों आगे पढ़ें »

ऊपर