ब्रेकिंगः स्वास्थ्य साथी कार्ड स्वीकार नहीं करने पर बारासात के नर्सिंग होम में…

मरीज के मरने के बाद भी वेंटिलेटर पर रखे रहने का परिवार ने लगाया आरोप
बारासात : बारासात के एक निजी नर्सिंग होम में तोड़फोड़ करते हुए गुरुवार को मरीज के परिजनों ने हंगामा किया। वहीं उन्होंने आरोप लगाया कि स्वास्थ्य साथी कार्ड दिये जाने के बाद भी नर्सिंग होम प्रबंधन ने कार्ड को लौटाते हुए मोटी रकम की मांग की और शव को कब्जे में रखा। यहां तक कि मरीज की मृत्यु के बाद भी ​बिल बढ़ाने के लिए उसे 2 घंटों तक वेंटिलेटर पर रखा गया था। आखिरकार 17 हजार रुपये काउंटर पर जमा कराने के बाद ही परिजनों को वहां से जाने दिया गया। इन सभी अव्यवस्थाओं का आरोप लगाते हुए ही मृतक के परिजनों ने क्षोभ जताना शुरू कर​ दिया। उन्होंने प्रबंधन की भूमिका की कड़ी निंदा करते हुए अविलंब नर्सिंग होम प्रबंधन के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। बताया गया है कि लगभग 3 घंटों तक चले विक्षोभ को देखते हुए मीडिया के वहां पहुंचने पर प्रबंधन की ओर से उनके रुपये लौटा देने का आश्वासन परिवार को दिया गय। साथ ही प्रबंधन अधिकारियों ने किसी भी अतिरिक्त बिल की मांग के आरोंपो से भी इनकार दिया। वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य साथी कार्ड को अस्वीकार करने को लेकर मरीज के परिजनों ने प्रशासन में शिकायत करने की बात कही। इस मामले में बारासात पालिका के प्रशासक सुनील मुखर्जी ने कहा कि किसी भी सरकारी और गैर सरकारी अस्पताल, नर्सिंग होम को स्वास्थ्य साथी कार्ड को स्वीकार करना ही होगा। इस शिकायत की भी छानबीन की जायेगी और अगर ऐसा पाया गया तो नर्सिंग होम के विरुद्ध प्रशासनिक कार्रवाई जरूर की जायेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

घंटों मशक्कत के बाद कैद हुआ बाघ

दक्षिण 24 परगना : वन विभाग के कर्मियों ने काफी घंटों की मशक्कत के बाद धान के खेत से रॉयल बंगाल टाइगर को पिंजरे में आगे पढ़ें »

ऊपर