ब्रेकिंग- अलर्ट : डेल्टा प्लस वेरिएंट के मामलों में बंगाल चौथे नम्बर पर

अब तक 4 मामले मिले
केंद्र ने भी की टेस्टिंग, ट्रेसिंग व ट्रीटमेंट पर जोर देने की दी हिदायत
देश के चौथे नंबर पर बंगाल
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः पश्चिम बंगाल भी उन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल हो गया है, जहां डेल्टा प्लस के वेरिएंट पाए गए हैं। केंद्र के मुताबिक, इस डेल्टा स्ट्रेन से संक्रमित लोगों की संख्या में पश्चिम बंगाल देश में चौथे स्थान पर है। राज्य में 21 जून तक कुल 1,553 सैंपल लिए गए थे। इनमें से 1,397 डेल्टा स्ट्रेन हैं। ‌‌इसका अर्थ है कि राज्य में पाए जाने वाले 90 प्रतिशत डेल्टा प्रजातियां हैं। पश्चिम बंगाल के मामले में विदेश से आए सिर्फ चार लोगों में डेल्टा वेरिएंट के सैंपल मिले थे। शेष 1,394 लोग राज्य के स्थायी निवासी पाए गए।
तो क्या बड़ी आबादी में फैल गया वेरिएंट
स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, कुल सैंपल जांच के बाद संक्रमण में 90 प्रतिशत डेल्टा प्रजाति होने का मतलब है कि एक बार फिर, यह स्पष्ट है कि डेल्टा प्रजाति पश्चिम बंगाल की स्थायी आबादी में फैल गई है। यह एक चिंता का विषय है। यह दूसरों की तुलना में अधिक संक्रामक है, उनके हमलों से फेफड़ों को बहुत अधिक नुकसान हो रहा है। साथ ही शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती जा रही है।
क्या है निर्देश डेल्टा प्लस को रोकने के लिए
डॉ.रजत बसु, वैज्ञानिक, नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ कोलेरा एण्ड एंटरीक डिजेज (नाइसेड) ने कहा कि जिन जगहों पर डेल्टा प्लस के मरीज मिले हैं, वहां भीड़ को रोकने और लोगों के मिलने-जुलने और आवाजाही पर नियंत्रण के लिए तत्काल जरूरी उपाय किए जाने के लिए केंद्र सरकार ने दिशा-निर्देश दिए हैं। इसमें कहा गया है कि जिन राज्यों में डेल्टा प्लस के केस मिले हैं, वहां तत्काल प्रभाव से कंटेनमेंट जोन बनाए जाएं। पाबंदियों का सख्ती से पालन कराया जाए। कोरोना संक्रमित पाए गए लोगों के पर्याप्त नमूने तत्काल संंबंधित प्रयोगशालाओं में भेजे जाएं, ताकि यह पता लगाया जा सके कि यह कौन सा वेरिएंट है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः एक सप्ताह में बिना मास्क पहने घूम रहे 1278 लोगों पर हुई कार्रवाई

सड़क पर थूकने के आरोप में 65 लोगों का कटा चालान सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बीते एक सप्ताह में महानगर की सड़कों पर ब‌िना मास्क पहने हुए आगे पढ़ें »

ऊपर