हावड़ा की सड़कों पर नहीं दिख रही है ब्लू बसें, अब भी दूर…

मिनी बस का किराया 10 से 20 रुपये तक, ब्लू बस में भाड़ा 10 व 15 रुपये
बस ड्राइवरों ने कहा – अब तक कोई फैसला नहीं, पर रोजी-रोटी का सवाल है
हावड़ा : लॉकडाउन को सामान्य हुए करीब एक सप्ताह हो गया है लेकिन निजी बसों के न चलने से रोजाना आम लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल लोकल ट्रेनें भी पटरियों से नदारद हैं। ऐसे में आम लोगों के लिए बस ही एकमात्र सहारा है और यही न चले तो उनके लिए यात्रा मानो तिल के पहाड़ के सामान हो गयी है। हालांकि राज्य सरकार लगातार निजी बसों के मालिकों के साथ लगातार बैठकें कर रही है ताकि किसी समस्या का समाधान निकले लेकिन किसी भी फैसले के पहले सोमवार को हावड़ा की सड़कों पर मिनी बसें दौड़ती हुई दिखाई दीं। इसके साथ ही कुछ ब्लू बसें भी थीं लेकिन वह न के बराबर ही थीं। वहीं मिनी बसों के चलने से अाम यात्रियों के लिये रेगिस्तान में पानी मिलने के समान था। बसों के चलने से यात्रियों के माथे की सिकन थोड़ी कम नजर आयी। सन्मार्ग ने बस मालिकों, ड्राइवरों व कुछ यात्रियों से इस विषय में बातचीत की :
रोजी-रोटी का सवाल है : कोना से धर्मतल्ला के बीच चलनेवाली मिनी बस के एक ड्राइवर ने बताया कि सोमवार से उनलोगों ने बसों को रोड पर उतारा है। ऐसे में ​बस का किराया भी उन्होंने अपने अनुसार बढ़ा लिया है, क्योंकि सरकार का फैसला कब आयेगा, लेकिन मेरे सामने तो रोजी-रोटी का सवाल है इसलिए बसों को उतारना पड़ा। पहले जहां धर्मतल्ला का किराया 10 रुपये था अब यह किराया बढ़ाकर 20 रुपये कर दिया गया है। कोना से हावड़ा तक के लिए 10 रुपये किराया, बड़ाबाजार के लिए 15 एवं धर्मतल्ला के लिए 20 रुपये किराया रखा गया है। कोना-धर्मतल्ला के अलावा बांधाघाट-धर्मतल्ला, बेलूड़-धर्मतल्ला, बालीखाल-खिदिरपुर आदि रूट की बसें इसमें शामिल हैं।
कोई फैसला नहीं फिर भी निकाली गयीं बसें : वहीं ब्लू बसें भले ही हावड़ा की सड़कों पर कम देखने को मिल रही हैं, परंतु इसके बावजूद हावड़ा से बारासात, हावड़ा से साल्टलेक, हावड़ा से लेकटाउन, हावड़ा मैदान से सियालदह, हावड़ा से बागुईआटी समेत कुछ रूट की बसें हावड़ा की सड़कों पर देखने को मिलीं। 215/1 नं. के एक बस कंडक्टर ने कहा कि राज्य सरकार की ओर से केवल बैठकें की जा रही हैं। कोई निर्णय नहीं निकला है। पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार इजाफा हो रहा है। इसलिए अपनी सुविधा के अनुसार हावड़ा से सेंट्रल एवेंयू तक 10 रुपये किराया और इससे आगे जाने पर 15 रुपये किराया रखा गया है।
यात्रियों को मिली राहत : वहीं इन बसाें के चलने से आम लोगों को राहत मिली है। राहुल जायसवाल ने कहा कि वह लेकटाउन ऑफिस जाता है, बस के चलने से उसे काफी आराम मिला है। वहीं जयंती घोष का कहना है कि वह साल्टलेक के एक निजी अस्पताल में कार्यरत है। बस का किराया भले ही 10 रुपये बढ़ाया गया हो लेकिन बसों के चलने से उन्हें अपने गंतव्य पर पहुंचने में बहुत आसानी हो जायेगी।
क्या कहना है बस संगठन का : ज्वाइंट काउंसिल ऑफ बस सिंडिकेट के महासचिव तपन बनर्जी का कहना है कि जितनी भी बसें अभी सड़कों पर उतरी हैं। वे अपने मन से उतरी है। उनकी अपनी ​इच्छा है हालांकि सरकारकी ओर से अब तक इस पर कोई फैसला नहीं ​लिया गया है। वह उम्मीद जता रहे हैं कि जल्द ही राज्य सरकार इस पर अपना निर्णय ले और किराये में वृद्धि के बारे में जानकारी दे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ाबाजार में बस की चपेट में आने से यात्री की मौत

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बड़ाबाजार थानांतर्गत स्ट्रैंड रोड पर मिनी बस की चपेट में आने से एख यात्री की मौत हो गयी। मृतक का नाम सुनील आगे पढ़ें »

ऊपर