इस बार के विधानसभा चुनाव में हिन्दीभाषियों का वोट अहम : विवेक गुप्त

कोलकाता : विधानसभा चुनाव 2021 करीब है और राज्य में सबसे अहम होगा हिन्दीभाषियों का वोट। इसलिए इस बार के चुनाव में कोई भी घर में नहीं रहे और चुनाव के दिन वोट जरूर डाले। यह कहना है पश्चिम बंगाल तृणमूल कांग्रेस हिन्दी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष विवेक गुप्त का। वे पोस्ता बाजार में तृणमूल कांग्रेस हिन्दी प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित मकर संक्रांति की पूर्व संध्या पर कंबल वितरण कार्यक्रम में बाेल रहे थे। उन्होंने कहा कि यहां कुछ साम्प्रदायिक पार्टियां आकर हिन्दी भाषियों को बरगलाने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन वे केवल चुनाव के टाइम टुरिस्ट की तरह आते हैं और चुनाव के बाद इनका कोई ठिकाना नहीं रहता है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हमेशा हिन्दीभाषियाें के लिए सोचती हैं और महाराष्ट्र, गुजरात से भले ही यूपी-बिहार के लोगों को निकाल दिया जाता है लेकिन बंगाल में लोगों से किसी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाता है। इसके साथ ही मंत्री व इलाके की विधायक शशि पांजा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने न ही किसी से ऊंच-नीच सा व्यवहार किया है और न ही हिन्दीभाषी-बंगलाभाषी किया है, जो बंगाल में रह गया वह बंगाली है। उन्होंने कहा कि भाजपा केवल राजनीति करती है परंतु तृणमूल कांग्रेस जमीनी स्तर पर काम करती है। जब लोगों को पानी की आवश्यकता होती है तो पानी की टंकी तक विधायक ही व्यवस्था करती हैं। इस दौरान पश्चिम बंगाल तृणमूल कांग्रेस हिन्दी प्रकोष्ठ के प्रेसिडेंसी जोन के संयोजक राजेश सिन्हा, कोऑर्डिनेटर सुमन सिंह, कार्यक्रम के आयोजक यशवंत यादव व प्रमोद तिवारी समेत अन्य गण्यमान्य लोग मौजूद थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ब्रेकिंग : वैशाली डालमिया को पार्टी से किया गया निष्कासित

कोलकाता : वैशाली डालमिया को अनुशासनहीनता के लिए तृणमूल ने पार्टी से निष्कासित कर दिया है। आगे पढ़ें »

राजीव हमेशा जनता के साथ थे, मेरा समर्थन उनके साथ रहेगा : रुद्रनील

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राजीव बनर्जी के इस्तीफे को लेकर तृणमूल नेता रुद्रनील घोष ने कहा कि वह हमेशा से ही जनता के साथ खड़े रहे आगे पढ़ें »

ऊपर