भाजपा का बंग भंग समर्थन बंगाल की संस्कृति का विरोध है : ब्रात्य

सन्मार्ग संवाददाता
काेलकाता : भाजपा के सांसद जॉन बार्ला द्वारा उत्तर बंगाल के विभाजन की मांग को लेकर भाजपा ने जिस तरीके से बंग भंग का समर्थन किया है वह बंगाल की संस्कृति व यहां के इतिहास का विरोध है। राज्य के शिक्षा मंत्री ब्रात्य बसु ने बंग भंग पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा पर निशाना साधा। हाल के विधानसभा चुनाव में भाजपा को जिस तरह पराजय का सामना करना पड़ा उससे वह बौखला गयी है। इसलिए उनके नेता बंग भंग की मांग कर रहे हैं। हैरत की बात है कि भाजपा के नेता आपस में ही इस विषय पर एक सोच नहीं रख पा रहे हैं। जॉन बार्ला ने 16 जून से 19 जून के बीच बंगाल के विभाजन की बात कही जिसे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद दिलीप घोष ने दो दिन बाद ही यह कहते हुए खारिज कर दिया कि ऐसी कोई साेच या समर्थन पार्टी का नहीं है। फिर 21 अगस्त को खुद दिलीप घोष ने बंग भंग का समर्थन किया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पहले ही कह चुकी हैं कि राज्य सरकार ने उत्तर बंगाल के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी है। उत्तर बंगाल हो या दक्षिण बंगाल इसका बंटवारा नामुमकिन है। उत्तर बंगाल के विकास के लिए राज्य सरकार ने कई विकास मूलक कार्य किए हैं। विकास परिषद का गठन किया ताकि वहां विकास कार्य पूरे हो सकें। इस स्थिति में भाजपा किस तर्ज पर कह रही है कि वहां काम नहीं हुआ। यह कुछ और नहीं बल्कि भाजपा ने जो हार पायी है उसकी बौखलाहट है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सियालदह तक मेट्रो की सौगात नए साल में

सियालदह तक मेट्रो शुरू करने की कवायद में जुटा प्रबंधन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः ईस्ट वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर के तहत कोलकाता मेट्रो रेलवे कॉरपोरेशन (केएमआरसीएल) ने सियालदह मेट्रो आगे पढ़ें »

ऊपर