दासपुर में घर लौटते ही भाजपा कर्मियों पर हमले का आरोप

खड़गपुर : विधानसभा चुनाव के बाद हिंसा की घटनाओं की जांच सीबीआई की टीम रही है। राज्यभर के विभिन्न जगहों पर जाकर टीम पीड़ित परिवारों से बातचीत कर रही है। इसी बीच, दासपुर में भाजपा ने एक बार फिर से तृणमूल पर हमले का आरोप लगाया है। हालांकि तृणमूल ने आरोपों से इनकार किया है। आरोप है कि मतदान के बाद से ही रमेश और उसका भाई आशीष घर में नहीं आ पा रहा था। गत शनिवार को दोनों घर लौटे थे। आरोप है कि घर लौटते ही उन पर हमले हुए है। गेरुआ शिविर का आरोप है कि चुनाव के बाद से ही रमेश, आशीष और कई अन्य लोग बेघर हो गए थे। शनिवार की रात जैसे ही वे घर लौटे बदमाशों ने उन पर लाठियों, डंडों और बांस से कथित तौर पर हमला कर दिया। आरोप यह भी है कि रमेश और आशीष को घर से घसीटा गया और बुरी तरह पीटा गया। दोनों भाइयों के बीच रमेश गंभीर रूप से घायल हो गया। उन्हें घाटल सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसके सिर पर टांके लगे हैं। फिलहाल उनका वहां इलाज चल रहा है। आशीष के मुताबिक जबरदस्ती तृणमूल में शामिल होने के लिए कहा जा रहा है। हम शामिल नहीं होना चाहते थे। इस कारण हमें रॉड, बांस, डंडों से पीटा गया।
क्या कहना है भाजपा का
घाटाल सांगठनिक जिला बीजेपी संपादन ने आरोप लगाया कि पुलिस अब दलदास हो गई है। पुलिस में शिकायत करने के बाद भी उसने शिकायत नहीं ली जा रही है।
तृणमूल ने आरोप से किया इनकार
तृणमूल ने पूरी घटना को मनगढ़ंत बताकर आरोपों से इनकार कर दिया है। सत्तारूढ़ खेमे का दावा है कि यह हमला भाजपा और एबीवीपी के बीच विवाद के कारण हुआ। इससे तृणमूल का कोई लेनादेना नहीं है। बीजेपी जानबूझकर जमीनी स्तर पर बदनाम करने के लिए झूठ बोल रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पूजा के पहले कोलकाता से लाभपुर के लिए बस परिसेवा

विशेष पहल से लोगों को मिली राहत सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः साउथ बंगाल स्टेट ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन (एसबीएसटीसी) ने विशेष पहल करते हुए बीरभूम जिले के लाभपुर के लिए आगे पढ़ें »

ऊपर