भाजपा के दिग्गज चुनाव लड़ने से हो जा रहे हैं पीछे, आखिर क्यों ?

सन्मार्ग संवाददाता
नयी दिल्ली/कोलकाता : इस बार विधानसभा चुनाव की लड़ाई में तृणमूल को भाजपा कड़ी टक्कर दे रही है। पार्टी चौतरफा हमले कर रही है, चुनावी मैदान में सांसदों तक को उतारा गया है। आगे भी कुछ और सांसद उतारे जाने की संभावना है। हालांकि भाजपा के कुछ दिग्गज चुनाव लड़ने से एक कदम पीछे हो जा रहे हैं। इधर, बुधवार को नयी दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के घर पर दिन भर बैठक के बाद शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय चुनावी समिति की बैठक हुई। पार्टी सूत्रों के अनुसार, इस बैठक में दिलीप घोष को दुबराजपुर ताे मुकुल राय को कृष्णानगर दक्षिण से उम्मीदवार बनाने को लेकर चर्चा की गयी। हालांकि सूत्र बताते हैं कि दोनों ही नेता चुनाव लड़ने को खास इच्छुक नहीं हैं। सूत्रों की मानें तो मुकुल राय ने कहा है कि उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता जिस कारण वह चुनावी मैदान में नहीं उतरना चाहते हैं। इसी तरह दिलीप घोष ने कहा है कि अगर सभी पदाधिकारी व वरिष्ठ नेता चुनाव ही लड़ेंगे तो फिर राज्य भर में प्रचार कौन करेगा। दोनों ही नेताओं के अपने – अपने तर्क हैं, लेकिन यह बात भी उतनी ही सही है कि ‘युद्ध’ के मैदान में जीत के हर पहलुओं पर बारिकी से गौर किया जाता है और ये विधानसभा चुनाव भाजपा के लिए किसी युद्ध से कम नहीं है। इस कारण संभवतः दोनों ही नेताओं को पार्टी चुनावी मैदान में उतार सकती है। आज यानी गुरुवार को भाजपा के बाकी के उम्मीदवारों की सूची जारी हाे सकती है। अब देखना यह है कि मुकुल राय और दिलीप घोष को पार्टी चुनाव लड़ाती है या फिर उनके तर्कों को देखते हुए किसी और को टिकट देती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शीतलकूची में जाने से 3 दिन रोक सकते हैं, लोगों के मन से नहीं – अभिषेक

कोलकाता : शीतलकुची की घटना को लेकर युवा के अध्यक्ष व सांसद अभिषेक बनर्जी ने भाजपा व चुनाव आयोग पर जमकर निशाना साधा। तृणमूल सांसद आगे पढ़ें »

अम्हर्स्ट स्ट्रीट में दामाद ने ससुर पर किया जानलेवा हमला

कोलकाता : अम्हर्स्ट स्ट्रीट थानांतर्गत केशव चंद्र सेन स्ट्रीट में एक व्यक्त‌ि पर जानलेवा हमला कर दिया। घायल व्यक्ति का नाम संजय दास है। उसके आगे पढ़ें »

ऊपर