बौखला उठे हैं भाजपा प्रवक्ता, मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ रहे हैं

tmc

तृणमूल को बांग्लादेशी पार्टी कहा, प्रवक्ता को बंगलादेशी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : जैसे – जैसे विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है वैसे – वैसे भाजपा में बौखलाहट साफ दिखायी दे रही है। उसके प्रवक्ता अपना आपा खो रहे हैं। हर मर्यादा व सीमाएं लांघी जा रही हैं। भाजपा प्रवक्ताओं की बौखलाहट से बहुत कुछ साफ है। उनके इस आचरण की चौतरफा निंदा भी हो रही है। इसका एक उदाहरण शनिवार को एक चैनल में बहस के दौरान देखा गया जहां भाजपा के एक प्रवक्ता ने मर्यादा की सारी सीमाओं को पार कर दिया। बहस के दौरान भाजपा प्रवक्ता ने तृणमूल की महिला प्रवक्ता जुई विश्वास को बांग्लादेशी प्रवक्ता कह डाला। इतना ही नहीं तृणमूल को बांग्लादेशी पार्टी भी करार दिया। भाजपा प्रवक्ता ने तृणमूल प्रवक्ता से कहा कि आप चैनल पर बैठती हैं तो कई बार लगता है कि बांग्लादेश के प्रवक्ता बैठे हैं। इस मामले में पार्टी भी गंभीर है तथा जल्द ही कानूनी रास्ता अपनाने जा रही है तथा एफआईआर भी दर्ज हो सकता है।
क्या है मामला
दरअसल, विक्टोरिया मेमो‌रियल में नेताजी की जयंती कार्यक्रम के दौरान हूटिंग और उसके बाद सीएम का वक्तव्य रखने से इनकार करने के मुद्दे को लेकर एक चैनल में बहस चल रही थी। तृणमूल की प्रवक्ता जूई विश्वास थीं तथा भा​जपा की तरफ से राजीव जेटली वक्तव्य रख रहे थे। जेटली एक खास समुदाय को भत्ता देने का मुद्दा उठा रहे थे, इस पर जूई विश्वास ने कहा कि भत्ता हिन्दु धर्म के पुरोहितों को भी दिया जाता है। राजीव जी आपको पूरी जानकारी लेकर बोलना चाहिए। तभी राजीव बौखला गये तथा पार्टी के कल्चर पर सवाल उठा दिया। इसके बाद हिन्दु-मुसलमान करने लगे। बंगाल बॉर्डर पर 5 हजार गांव खाली कर रखा है, हिंदु वहां एक भी नहीं है। जूई विश्वास ने उनके बयान पर आपत्ति जताते हुए उन गांवों का नाम पूछा तो भाजपा प्रवक्ता और भड़क गये तथा ऐसा कुछ कह डाला जिससे लोगों ने दातों तले अंगुली दबा ली। उन्होंने कहा कि आप चैनल पर बैठती हैं तो कई बार लगता है बांग्लादेश की प्रवक्ता बैठी हैं, ऐसा लगता है कि तृणमूल बांग्लादेश की पार्टी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शनिवार को इन कार्यों को करने से मिलता है शनिदेव का आर्शीवाद

कोलकाता : शनिदेव की शांति के लिए शनिवार का दिन अतिउत्तम माना गया है। शनिवार का दिन शनिदेव को ही समर्पित है। जिन लोगों की आगे पढ़ें »

पूजापाठ से जुड़े ये 10 नियम हमेशा रखें ध्‍यान, कभी नहीं होगा आपका नुकसान

कोलकाताः सनातन धर्म को मानने वाले लोगों के लिए पूजापाठ सबसे जरूरी क्रिया है। हिंदू धर्म के लोगों की दैनिक दिनचर्या पूजापाठ के बिना शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर