भाजपा, ममता का ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का साझा सपना : आरएसएस से जुड़ी बंगाली पत्रिका

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़ी एक बंगाली पत्रिका में प्रकाशित एक लेख में दावा किया गया है कि भाजपा और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दोनों का ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का सपना है। भाजपा ने पत्रिका ‘स्वास्तिक’ में छपे लेख से दूरी बनाते हुए इसे ‘निराधार’ और पार्टी के आधिकारिक रुख से अलग बताया है जबकि तृणमूल कांग्रेस ने भी ‘भगवा खेमे के साथ समझौते’ के आरोपों को खारिज कर दिया। हालांकि, कांग्रेस ने कहा कि ‘राज का पर्दाफाश हो गया है।’ ‘ममता इतिहास मिटाने की इतनी इच्छुक क्यों हैं ? निवेश आकर्षित करने के लिए या सोनिया को बर्बाद करने के लिए ?’ शीर्षक वाले इस लेख को निर्मलया मुखोपाध्याय ने लिखा है और यह पत्रिका के 13 दिसंबर के अंक में प्रकाशित हुई। लेखक ने लिखा है, ‘बदले रुख से यह स्पष्ट है कि वह पहले वाली ममता बनर्जी नहीं हैं। नरेंद्र मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का सपना है। मुझे लगता है कि अब ममता का भी यही सपना है। इसलिए वह इस सपने को बेचकर इतिहास मिटाने की कोशिश कर रही हैं।’ इस लेख पर टिप्पणी के लिए पत्रिका के संपादक तिलक रंजन बेरा से बार-बार संपर्क किया गया लेकिन उनसे बात नहीं हो सकी। आरएसएस के प्रदेश महासचिव जिश्नु बसु ने कहा कि उन्होंने अभी लेख पढ़ा नहीं है इसलिए इस पर टिप्पणी नहीं कर सकते हैं। भाजपा की पश्चिम बंगाल ईकाई के प्रवक्ता शमिक भट्टाचार्य ने इस लेखक को ‘निराधार’ बताया और कहा कि इसका पार्टी की नीति या रुख से कोई लेना-देना नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

वेस्टइंडीज सीरीज के लिए टीम इंडिया घोषित:कुलदीप यादव की हुई वापसी

नई दिल्ली: भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेली जाने वाली 3 मैचों की वनडे और इतने ही मैचों की टी-20 सीरीज के लिए बहुत ही आगे पढ़ें »

ऊपर