द्राैपदी मुर्मू को समर्थन के लिए भाजपा ने दी तृणमूल सांसद को चिट्ठी

तृणमूल वोट देगी यशवंत सिन्हा को : सौगत राय
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राष्ट्रपति चुनाव हेतु एनडीए की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने के लिए विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने तृणमूल सांसद सौगत राय को चिट्ठी दी है। हालांकि चिट्ठी की अंतिम पंक्तियों को लेकर विवाद उत्पन्न हो गया है। चिट्ठी के अंत में लिखा गया है, ‘द्रौपदी देवी की जीत निश्चित है। इसके बावजूद भाजपा की ओर से आपसे वोटों की अपील करता हूं। कारण, मौजूदा समय में द्रौपदी मुर्मू का देश के सर्वोच्च सांवैधानिक पद पर आसीन होना हमें सर्वोत्तम कदम लगता है। आयें, इस तरह की जनजाति, महिला, लंबे समय तक जनसेवा के प्रति दृढ़ उम्मीदवार को राष्ट्रपति भवन में पहुंचाने के यज्ञ में हम शामिल हों। भारतीय लोकतंत्र के विविध चरित्रों को सुदृढ़ करें।’ शुभेंदु की लिखी चिट्ठी की अंतिम पंक्तियों को लेकर विवाद हो गया है। संवाददाता सम्मेलन कर तृणमूल सांसद सौगत राय ने इसका उल्लेख किया। शुभेंदु की चिट्ठी के जवाब में उन्होंने कहा कि अगर द्रौपदी मुर्मू जीत ही जायेंगी तो उन्हें समर्थन का सवाल किस तरह उठता है ? हालांकि गत शुक्रवार को रथयात्रा के दिन द्रौपदी मुर्मू को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि उनकी जीत की संभावना ही अधिक है। सांसद सौगत राय ने शुक्रवार को कहा कि वह और उनकी पार्टी के अन्य सांसदों को बंगाल भाजपा से एक पत्र मिला है जिसमें द्रौपदी मुर्मू को समर्थन की बात कही गयी है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी संयुक्त गैर भाजपा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को वोट देंगे। भाजपा ने दावा किया है कि द्रौपदी मुर्मू की जीत तय है और हम सबको लोकतांत्रिक व सांवैधानिक नियमों के तहत उन्हें वोट देना चाहिये। हालांकि तृणमूल सांसद ने द्रौपदी को समर्थन की बात से इनकार करते हुए कहा, ‘एनडीए उम्मीदवार को हमें समर्थन क्यों करना चाहिये जबकि विपक्षी पार्टियों ने यशवंत सिन्हा को उम्मीदवार बनाया है। हम सब सिन्हा को वोट देंगे।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

फरवरी में हो सकता है पंचायत चुनाव, तैयारियां शुरू

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव अगले साल की शुरूआत में हो सकता है। सूत्रों के हवाले से ऐसी खबर आ रही है कि आगे पढ़ें »

ऊपर