तृणमूल के संपर्क में आने वाले सुदीप को भाजपा ने नहीं दी तवज्जो

कहा था, बिप्लव मान्य नहीं, 5 मिनट में बैठक छोड़कर निकले थे
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : उत्तर – पूर्वी राज्य त्रिपुरा में भाजपा को फिर सत्ता में वापस लाने के लिए बिप्लव देव और सुदीप रॉय बर्मन कंधे से कंधा मिलाकर लड़ सकते थे, लेकिन वास्तविकता इसके विपरीत चली गयी। केंद्रीय नेताओं की मौजूदगी में बैठक चलने के दौरान ही सुदीप रॉय बर्मन ने खुद को ‘अपमानित’ महसूस किया जिस कारण बैठक शुरू होने के 5 मिनट के अंदर ही वह बैठक छोड़कर चले गये। ऐसे में भाजपा ने भी तृणमूल के संपर्क में आने वाले सुदीप रॉय बर्मन को अधिक तवज्जो नहीं दी और उन्हें या फिर उनके समर्थकों को त्रिपुरा मंत्रीमण्डल के विस्तार में कहीं जगह नहीं दी गयी। त्रिपुरा में रामप्रसाद पॉल, सुशांत चौधरी व भगवान दास को नयी कैबिनेट में शामिल किया गया। यहां उल्लेखनीय है कि पहले चर्चा जोरों पर थी त्रिपुरा में भाजपा की अंदरुनी समस्याओं को मिटाने के लिए सुदीप रॉय बर्मन को कैबिनेट विस्तार के दौरान मंत्री पद दिया जा सकता है। कैबिनेट विस्तार पर चर्चा के लिए दिल्ली से अजय जाम्बयाल, विनोद सरकार व दिलीप भुइयां आये थे और सोमवार की शाम त्रिपुरा के भाजपा विधायकों व मंत्रियों को लेकर उन्होंने बैठक शरू की। बैठक में सुदीप रॉय बर्मन भी पहुंचे तो केंद्रीय नेताओं ने उन्हें बैठने के लिए कहा। हालांकि सूत्रों ने बताया कि इसी दौरान स्थानीय भाजपा नेताओं द्वारा कटाक्ष किये जाने पर अपमानित महसूस करते हुए सुदीप रॉय बर्मन बैठक छोड़कर बाहर चले गये थे। हालांकि मीडिया से उन्होंने कहा कि पारिवारिक कारणों से वह बैठक में नहीं रह पाये, जरूरत पड़ने पर बाद में लौटेंगे, लेकिन सुदीप रॉय बर्मन फिर बैठक में नहीं आये। इधर, सुदीप समर्थकों का दावा है कि सुदीप रॉय बर्मन का भाजपा छाेड़ना अब केवल समय का इंतजार भर है। सूत्रों की मानें तो तृणमूल में शामिल होने के लिए इस बीच उन्होंने राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी से संपर्क करना भी चालू कर दिया है। वहीं सुदीप रॉय बर्मन ने दावा किया कि उन्होंने केंद्रीय नेताओं से स्पष्ट कह दिया था कि बिप्लव देव के नेतृत्व में वह कोई पद नहीं लेना चाहते हैं। सुदीप के अनुसार, भाजपा ने उन्हें मंत्री पद का प्रस्ताव दिया था, लेकिन इसे लेने से उन्होंने मना कर दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

उत्तर हावड़ा में सांगठनिक बैठक के दौरान भाजपा के दो नेताओं में मारपीट

सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : चुनाव के बाद भाजपा के श्रमिक संगठन की बैठक के दौरान दो नेता आपस में ही भिड़ गये। यह घटना गत बुधवार आगे पढ़ें »

ऊपर