इन रास्तों से गुजर रहे हैं बाइकर्स तो जरा रहें सावधान

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : महानगर के कई रास्तों की हालत ही जर्जर है। कहीं बड़े गड्ढे तो कहीं पिच उखड़े हुए हैं। ऐसा ही कुछ हाल है हेस्टिंग्स से लेकर खिदिरपुर बाजार के आसपास की सड़क की (कुछ हिस्सों में)। यहां ट्राम लाइन भी है जो कि कई मीटर तक जर्जर हालत में है। वहीं कुछ हिस्सों में ट्राम लाइन के ऊपर से पिच को हटाया जा रहा है। इन सभी कारणों से भी सबसे ज्यादा बाइकर्स को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। साधारणत: ट्राम लाइन पर बाइक पलटने की आशंका बनी रहती है।
बेहद ही अहम है यह रास्ता
खिदिरपुर मोड़ या फिर हेस्टिंग्स बेहद ही अहम रास्ते हैं। खिदिरपुर में हाेलसेल का बाजार है। इसके साथ ही पोर्ट व दक्षिण कोलकाता का बेहद ही अहम रास्ता यह है। पोर्ट होने के कारण सबसे व्यस्त रास्तों में खिदिरपुर रास्ता शामिल है। रोजाना असंख्या गाड़ियां जिनमें बाइक, बस, ट्रक, लॉरी से लेकर अन्य वाहन यहां से गुजरते हैं। बेहला की तरफ जाना हो या फिर मटियाब्रुज, नदियाल या दक्षिण कोलकाता या फिर नवान्न के लिए भी लोग ज्यादातर खिदिरपुर से होकर जाते हैं।
इस कारण ट्राम लाइन पर से हटायी जा रही है पिच
बता दें कि अम्फान चक्रवात आने के बाद से ही खिदिरपुर – एस्प्लानेड का ट्राम रूट बंद है। इतने लंबे समय में कई बार रास्तों की मरम्मत हुई जिससे ट्राम लाइन भी कई जगहों पर ढक गयी। अब एक बार फिर से ट्राम लाइन पर से पिच हटाया जा रहा है। ऐसे में यहां गड्ढे बने हुए हैं। इस तरह से बाइकर्स को बेहद ही सावधानी से चलने की आवश्यकता है।
हेस्टिंग्स की सड़क फिर पुरानी हालत में
बरसात के कारण पहले भी हेस्टिंग्स के कुछ हिस्सों की सड़क जर्जर हो गयी थी। उसकी मरम्मत भी हाल में हुई थी लेकिन एक बार फिर से सड़क पुरानी हालत में पहुंचती नजर आ रही है।
क्या कहना है केएमसी का
बोरो 9 के तहत आने वाले इन रास्तों पर मरम्मत का काम किया गया है और थोड़े बहुत जो गड्ढे हैं उसे भर दिये जायेंगे। बोरो कोऑर्डिनेटर रतन मालाकर ने कहा कि काम जारी है। जल्द ही मरम्मत कर ली जायेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष रहे वसीम रिजवी ने ‘घर वापसी’, अपनाया हिंदू धर्म

गाजियाबाद : उत्तर प्रदेश शिया वक्‍फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने इस्‍लाम धर्म छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया। सोमवार सुबह उन्होंने डासना देवी आगे पढ़ें »

ऊपर