बड़ा सवाल : बड़ाबाजार में कौन होगा भाजपा का उम्मीदवार ?

कोलकाता : विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने पहले और दूसरे चरण के उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है, लेकिन बाकी के चरणों के उम्मीदवारों को लेकर अभी कौतूहल बना हुआ है। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से दावेदार तो कई हैं, मगर उम्मीदवारों का चयन करने में पार्टी काफी फूंक-फूंक कर कदम उठा रही है। उत्तर कोलकाता के विधानसभा क्षेत्रों को लेकर भी काफी कौतूहल बना हुआ है। विशेषकर बड़ाबाजार यानी जोड़ासांको विधानसभा क्षेत्र से भाजपा का उम्मीदवार कौन होगा, इसे लेकर लोगों में काफी चर्चा है। पार्टी सूत्रों के अनुसार, जोड़ासांको से भी भाजपा के कई दावेदार सामने आये हैं। हालांकि कौन होगा जोड़ासांको से भाजपा का उम्मीदवार, ये सवाल लोगों के मन में फिलहाल घूम रहा है। सन्मार्ग की टीम ने जोड़ासांको क्षेत्र में जो सर्वे किया, उनमें कई ऐसे नाम सामने आये हैं जिन्हें लोग उम्मीदवार के तौर पर चाहते हैं।
ये नाम हैं लोगों की पसंद
* शिशिर बाजोरिया – 28%
* राहुल सिन्हा – 25%
* मीना देवी पुरोहित – 23%
* विजय ओझा – 21%
* अन्य – 3%
ये नाम भी आये सामने
पार्टी सूत्रों का कहना है ​कि जोड़ासांको विधानसभा क्षेत्र में पार्टी काफी सोच- समझकर कोई कदम उठाना चाहती है। उक्त नामों के अलावा भी कुछ नाम दावेदारी में हैं। इनमें हाल में तृणमूल छोड़ने वाले दिनेश बजाज और दिनेश त्रिवेदी के नाम भी आये हैं। हालांकि पार्टी किसे उम्मीदवार बनायेगी, यह अगले कुछ दिनों में ही पता चल जाएगा।
एक नजर दावेदारों पर
शिशिर बाजोरिया – पार्टी में इनकी गहरी पैठ है। इसके अलावा इनकी छवि भी स्पष्ट है जिस कारण संभवतः पार्टी इन पर भरोसा जता सकती है।
राहुल सिन्हा – वरिष्ठ नेता होने के साथ ही गत लोकसभा चुनाव में उत्तर काेलकाता लोकसभा और 2016 के ​विधानसभा चुनाव में जोड़ासांको से चुनाव लड़ चुके हैं। इसके अलावा 2014 के लोकसभा चुनाव में भी उत्तर कोलकाता से उन्होंने चुनाव लड़ा है। इस कारण इस क्षेत्र को यह भलीभांति पहचानते हैं जिसका लाभ उन्हें मिल सकता है।
मीना देवी पुरोहित – वार्ड नं. 22 की वरिष्ठ पार्षद हैं और साथ ही इलाके में उनकी अच्छी पकड़ भी है। इलाके के लोगों से घुलना – मिलना और सुख-दुःख में लोगों के साथ रहने के कारण इनकी छवि इलाके में अच्छे जनप्रतिनिधि की है। वर्ष 2009 में कोलकाता नगर निगम की डिपुटी मेयर भी रह चुकी हैं। वर्ष 2011 के विधानसभा चुनाव में जोड़ासांको से चुनाव लड़ चुकी हैं। ऐसे में ये भी जोड़ासांको के दावेदारों में एक हैं।
विजय ओझा – वार्ड 23 के पार्षद हैं और इलाके में अच्छी पकड़ भी है। लोगों की परेशानियों में उनके साथ रहते हैं और काफी सरल स्वभाव के होने के कारण लोग इन्हें काफी पसंद भी करते हैं। स्थानीय होने के कारण हो सकता है कि पार्टी इस बार जोड़ासांको के लिए इन पर भरोसा जताये।
इधर, सन्मार्ग के सर्वे के दौरान जब भाजपा के एक और दावेदार के बारे में पूछा गया तो ये बात सामने आयी कि केवल कुछ इलाकों काे छाेड़कर दूसरी जगहों पर लोग उन्हें जानते तक नहीं हैं। मीना देवी पुरोहित और विजय ओझा के बारे में तो लोग जानते हैं, लेकिन जब एक और पार्षद के बारे में पूछा गया तो लोगों ने कहा कि उन्हें कभी नहीं देखा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मेरी लड़ाई किसी से नहीं, काम मेरी पहचान – फिरहाद हकीम

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पोर्ट विधानसभा चुनाव में मैं किसी को अपना प्रतिद्वंदी नहीं मानता हूँ। मेरी लड़ाई किसी से नहीं बल्कि मेरी खुद से है। आगे पढ़ें »

क्या आपको पता हैं न्यूड सोने के यह फायदे

नई दिल्ली : अगर आपसे सेहत को बेहतर रखने के तरीके अपनाने के बारे में कहा जाए तो बिना कपड़ों के यानी न्यूड होकर सोने आगे पढ़ें »

ऊपर