कोरोना वैक्सीन को लेकर एनआरएस व आईएसआई के सर्वे में बड़ा खुलासा

दो डोज लेने वाले हेल्थ केयर वर्कर में 100% एंटीबॉडी विकसित
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः एनआरएस व ह्यूमन जेनेटिक्स यूनिट के आईएसआई के एक सर्वे में खुलासा किया गया है कि हेल्थ केयर वर्कर जिन्होंने दोनों वैक्सीन की डोज ली है, उनमें 100% एंटीबॉडी विक‌सित हुई है। यह कोविड काल में एक अच्छा संकेत है, वैक्सीन लेने वालों के लिए।
313 स्वास्थ्य कर्मियों पर हुआ सर्वे
सूत्रों की मानें तो कुल 313 स्वास्थ्य कर्मियों पर एक सर्वे किया गया। इसमें कुल 174 हेल्थ वर्कर में वैक्सीन लेने के 21 दिन बाद एंटीबॉडी को लेकर सर्वे किया गया था। वैक्सीन लेने वाले ऐसे हेल्थ केयर वर्कर को तीन महीने तक निगरानी में रखा गया था।
वैक्सीन लेने वाले 11.5% हुए संक्रमित पर आए हल्के लक्षण
सर्वे में पाया गया कि वैक्सीन की दोनों डोज लेने वाले हेल्थ केयर वर्कर में 11.5% में कोविड का संक्रमण तो हुआ हालांकि उनमें 94% में हल्के लक्षण आए। साथ ही वह घर पर ही चिकित्सकीय परामर्श से ठीक हो गए। ऐसे लोगों को ऑक्सीजन सपोर्ट की भी जरूरत नहीं पड़ी। राज्य में वैक्सीनेशन की रफ्तार कई बार धीमी हो जा रही है। हालां‌कि कोविड मरीजों के बीच काम करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों व डॉक्टरों का वैक्सीनेशन काफी पहले ही हो चुका है। ऐसे में एनआरएस की ओर से किया गया यह सर्वे काफी सकारात्मक संदेश है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मिनी भारत है भवानीपुर, यहीं से शुरू होगी दिल्ली की लड़ाई : ममता

कहा : निष्पक्ष चुनाव हुआ होता तो 30 सीट भी न जीत पाती भाजपा 6 महीने में विधायक बनना जरूरी, इसके बिना सीएम पद उचित नहीं लोगों आगे पढ़ें »

ऊपर