4 महीने से मुर्दाघर में पड़ा है भाजपा कार्यकर्ता का शव परिवार ने…

कोलकाता : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव परिणाम के दिन 2 मई को कोलकाता के बेलियाघाटा के बीजेपी कार्यकर्ता अभिजीत सरकार की हत्या कर दी गई थी। उसके निधन को चार महीने बीत चुके हैं, लेकिन उसका शव अभी भी कमांड अस्पताल के मुर्दाघर में पड़ा हुआ है। अब परिवार के सदस्यों ने कोलकाता के सियालदह कोर्ट में फरियाद की है कि मृत अभिजीत का डीएनए रिपोर्ट उन्हें सौंपी जाए, ताकि पहचान कर सके कि यह शव अभिजीत सरकार का है या नहीं। यदि है, तो उनका अंतिम संस्कार कर सकें।
परिवार के मन में यह सवाल है कि क्या वह शव अभिजीत सरकार का है? परिवार ने यह आरोप लगाया कि पुलिस ने सबूत मिटाने के लिए अभिजीत के शव को बदल दिया है। शव की पहचान के लिए डीएनए टेस्ट पहले ही किए जा चुके हैं। वह रिपोर्ट सीबीआई के पास है। सीबीआई ने अदालत में सीलबंद रिपोर्ट जमा दी थी। इसलिए परिवार को अभी भी नहीं पता है कि शव अभिजीत का है या नहीं। अब उसके परिवार ने कानूनी तरीके से डीएनए रिपोर्ट के लिए आवेदन किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सियालदह तक मेट्रो की सौगात नए साल में

सियालदह तक मेट्रो शुरू करने की कवायद में जुटा प्रबंधन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः ईस्ट वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर के तहत कोलकाता मेट्रो रेलवे कॉरपोरेशन (केएमआरसीएल) ने सियालदह मेट्रो आगे पढ़ें »

ऊपर