ममता सरकार ने गठित किया सीट, 10 आइपीएस अधिकारियों की हुई नियुक्ति

कोलकाता : विधानसभा चुनाव के बाद हिंसा के मामले में कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश के मद्देनजर ममता बनर्जी सरकार ने गुरुवार को सीट गठित करने के लिए अधिसूचना जारी है। जांच के लिए कुल पांच जोन में विभाजित किया गया है और आइपीएस स्तर के 10 अधिकारियों की नियुक्ति की गई है। बता दें कि बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद लगातार हिंसा के आरोप लगाये जा रहे हैं। उसके मद्देनजर कलकत्ता हाईकोर्ट ने सख्त आदेश दिया था। बता दें कि कलकत्ता हाई कोर्ट ने पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद कथित हिंसा के मामले में हत्या व रेप जैसे गंभीर मामलों की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो यानी सीबीआई से कराने का आदेश दिया था, जबकि कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल की अगुआई वाली पांच सदस्यीय पीठ ने चुनाव के बाद कथित हिंसा के संबंध में अन्य आरोपों की जांच के लिए विशेष जांच दल के गठन का भी आदेश दिया था।
सीट में 10 आईपीएस अधिकारी को किया गया है नियुक्त
सीट में राज्य के 10 वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी को नियुक्त किया गया है। कुल चार जोन में विभाजित किया गया है। मुख्यालय में आईपीएस सोमा दास मुखर्जी और आईपीएस शुभंकर भट्टाचार्य को नियुक्त किया गया है, जबकि उत्तर जोन के लिए आईपीएस डीपी सिंह और प्रवीण कुमार त्रिपाठी, वेस्ट जोन के लिए आईपीएस संजय सिंह और आईपीएस बीएल मीणा को, साउथ जोन के लिए आईपीएस सिद्धिनाथ गुप्ता और आईपीएस प्रसून बंद्योपाध्याय तथा कोलकाता जोन के लिए आईपीएस तन्मय राय चौधरी और आईपीएस नीलांजन विश्वास को नियुक्त किया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मिनी भारत है भवानीपुर, यहीं से शुरू होगी दिल्ली की लड़ाई : ममता

कहा : निष्पक्ष चुनाव हुआ होता तो 30 सीट भी न जीत पाती भाजपा 6 महीने में विधायक बनना जरूरी, इसके बिना सीएम पद उचित नहीं लोगों आगे पढ़ें »

ऊपर