‘कट मनी’ संस्कृति का विरोध करने पर तृणमूल ने दरकिनार किया : राजीव बनर्जी

हावड़ा : भाजपा नेता व डोमजूड़ से भाजपा के उम्मीदवार राजीव बनर्जी के समर्थन में केंद्र मंत्री अमित शाह ने रोड शो किया। इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया है कि कट मनी की संस्कृति का विरोध करने पर उन्हें तृणमूल में दरकिनार किया गया। दूसरे कार्यकाल के दौरान हर वक्त उनके साथ सौतेला व्यवहार किया गया, जिसके चलते उन्हें राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी के साथ आखिरकार अपना नाता तोड़ना पड़ा। राजीव का तृणमूल छोड़ भाजपा का दामन थामना भगवा पार्टी के लिए बिन मांगी मुराद पूरी होने जैसी है, जो बंगाल में सत्ता हासिल करने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए हैं। ‘मनरेगा’ के क्रियान्वयन में राज्य के प्रथम स्थान पर होने का तृणमूल के प्रचार करने का भी उन्होंने मजाक उड़ाया और कहा कि यह विशिष्टता राज्य में युवाओं के लिए नौकरियों की कमी की गवाही देती है।
राजनीति छोड़ने का पहले आया था विचार
एक वक्त तृणमूल के प्रमुख नामों में शामिल रहे, पूर्व वन मंत्री ने कहा कि उन्होंने सक्रिय राजनीति छोड़ने का विचार किया था, लेकिन विधानसभा चुनाव लड़ने की चुनौती इस उम्मीद में स्वीकार कर ली कि भाजपा राज्य में विकास का नये युग का सूत्रपात करेगी। जनवरी में भाजपा में शामिल हुए 51 वर्षीय बनर्जी, डोमजूड़ सीट से तीसरी बार जीत दर्ज करने की उम्मीद कर रहे हैं। जहां से वह 2011 से तृणमूल प्रत्याशी के तौर पर दो बार जीत चुके हैं।
अपने कड़वे अनुभवों के बारे में बताया
पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग में अपने कड़वे अनुभवों के बारे में राजीव बनर्जी ने कहा कि उन्हें एक बार साबुज साथी’ परियोजना के तहत विद्यार्थियों को साइकिल वितरित करने में गड़बड़ी की शिकायत मिली थी और उन्होंने इसकी जानकारी मुख्यमंत्री कार्यालय को दी थी। उन्होंने व्यस्त चुनाव प्रचार से अलग कहा कि यह बात बताने का यह नतीजा हुआ कि मुझे विभाग से हटा दिया गया क्योंकि मैंने कमीशन लेने की संस्कृति को खत्म करने की कोशिश की।
तृणमूल पर लगाये आरोप
तृणमूल सरकार पर उनके निर्वाचन क्षेत्र के परियोजना कार्यों के लिए फाइलों को मंजूरी नहीं देने का आरोप लगाते हुए राजीव बनर्जी ने दावा किया कि जब भी उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों और पार्टी सदस्यों के एक वर्ग के निहित स्वार्थों के रास्ते में आने की कोशिश की, उन्हें उनके मंत्रालयों से उन्हें हटा दिया गया। चुनाव पूर्व तृणमूल को धोखा देने से पहले अपने पद की तमाम शक्तियों का लाभ उठाने के आरोपों पर पूर्व सिंचाई मंत्री ने कहा कि निर्वाचन क्षेत्र के लोग इलाके में उनके विकास कार्यों से भली-भांति अवगत हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कालीघाट मंदिर में युवती से जबरन शादी करने की कोशिश, अभियुक्त गिरफ्तार

विरोध करने पर युवती से मारपीट कर तोड़ा मोबाइल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कालीघाट मंदिर में एक युवती को ले जाकर उससे जबरन शादी करने की कोशिश आगे पढ़ें »

सॉल्टलेक के दत्ताबाद मैं भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर किया तोड़फोड़

सन्मार्ग संवाददाता विधाननगर : राज्य में पांचवें चरण के मतदान संपन्न होने के बाद भी विभिन्न विधानसभा केन्द्र में चुनावी हिंसा जारी है। ताजा घटना विधाननगर आगे पढ़ें »

कारोना विस्फोट पर ममता ने मांगा प्रधानमंत्री से इस्तीफा

जिन राज्यों में चुनाव नहीं, वहां कोरोना के मामले अधिक : शाह

कोरोना संकट के बीच रेलवे ने कसी कमर, चलाई जाएंगी ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेनें

कितने दिनों में कोविड मरीज ठीक होते हैं या हालत हो जाती है खराब, 14 दिन की लिमिट का क्या है मतलब

बटन इतना ज़ोर से दबाना कि बटन यहां दबे और करंट दीदी को कोलकाता में लगे – अमित शाह

मरीज तड़पता रहा, भर्ती कराने गए परिजनों को डॉक्टर कैमरे के सामने ही पीटते रहे

अमृता सिंह के साथ अपने रिश्ते को लेकर करीना ने खोला बड़ा राज, कहा – मैं उनसे कभी नहीं………..

घर में सो रहा था शख्स, सिर काट कर साथ ले गया कातिल

ऊपर