बंगालः कोविड संक्रमित बच्चों के 70% मामलों में ओमिक्रॉन!

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट से हड़कंप
डबल डोज वैक्सीन लेने वाले 100% में से 81% ही ओमिक्रॉन संक्रमित मिल रहे
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः बच्चों में भी ओमिक्रॉन वेरिएंट नजर आ रहा है। स्वास्थ्य विभाग की एक रिपोर्ट के अनुसार, जिन 69.2 प्रतिशत बच्चों को कोरोना रोग हुआ है, वे ओमिक्रॉन से संक्रमित हुए हैं। ओमिक्रॉन पूरे राज्य में बढ़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक वैक्सीन की डबल डोज लेने के बाद भी टीकाकरण कराने वाले 100 फीसदी लोगों में से 81 फीसदी ओमिक्रॉन से संक्रमित मिल रहे हैं।
वायरस में परिवर्तन, बच्चों पर भी असर
अब तक जांचे गए नमूनों में से 71.2 फीसदी ओमिक्रॉन , 3.7 फीसदी डेल्टा, 6.7 फीसदी जांच में कोई वैरिएंट नहीं मिला। इसके अलावा शेष 18 प्रतिशत परीक्षण अधूरे हैं। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया ‌कि आंकड़े से थोड़ा और लोगों को सचेत होने की जरूरत है।
इस संदर्भ में मेडिका सुपरस्पेशिएलिटी हॉ‌स्पिटल के वरिष्ट पेडियाट्रिशियन डॉक्टर ए.के.मित्तल ने कहा, बच्चों पर मुख्य रूप से घर के बड़ों का असर होता है। इसलिए वयस्कों को लक्षण दिखाई देते ही खुद को आइसोलेट कर लेना चाहिए,ताकि बच्चे कोविड संक्रमित न हो जाएं। वहीं, उम्मीद है कि भले ही ओमिक्रॉन तेजी से फैल रहा हो, लेकिन यह इतनी भयावह स्थिति तक नहीं पहुंच रहा है। इसलिए सावधान रहें, घबराएं नहीं। दरअसल देखा जा रहा है कि पहली और दूसरी कोविड लहर की तुलना में बच्चे इस लहर (कोरोना थर्ड वेव) से ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। कोविड का ओमिक्रॉन वेरिएंट काफी तेजी से फैल रहा है। बच्चों में भी कोविड हो रहा है, हालांकि यह अब तक घातक नहीं हुआ है। संभव है कि यह उनमें इम्युनिटी बढ़ाकर जाए। दरअसल वायरस ने अपना रूप बदला यही वजह है कि कोविड अब सामान्य सर्दी, खांसी, ज्वर की तरह यानी कि इंफ्लूएंजा की तरह हो रहा है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि यह ओमिक्रॉन वे‌रिएंट ही है।
यह लक्षण आ रहे नजर-
-बुखार, सर्दी, खांसी – मुख्य रूप से इन्फ्लूएंजा जैसे लक्षण।
-कई मामलों में शरीर में असहनीय दर्द होता है
-यदि ऐसे लक्षण हैं, तो डॉक्टरी परामर्श लें
-नवजात शिशुओं के मामले में बुखार आ रहा है, साथ ही बच्चा रो रहा है
-बुखार 102 या 104 डिग्री तक जा सकता है, ऐसे में चिकित्सक की सलाह लें

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

हावड़ा में सीसीटीवी के रखरखाव में है लापरवाही

सीसीटीवी के मेंटेनेंस के लिए नयी निजी कंपनी यह एक ऑनगोइंग प्रोसेस है : सीपी कई इलाकों में लगाये जायेंगे सीसीटीवी मेघा सुरोलिया हावड़ा : किसी भी प्रकार की आगे पढ़ें »

ऊपर