बंगालः वैक्सीनेशन की तेज रफ्तार, पर दोनों डोज में गैप भी बरकरार

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः राज्य में वैक्सीनेशन की तेज रफ्तार जारी है। इस बीच देखा जा रहा है कि दोनों वैक्सीन की डोज में गैप भी बरकरार है। माना जा रहा है कि अब स्वास्थ्य विभाग इस ओर भी विशेष ध्यान देगा। केवल 18 दिन में ही एक करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने का रिकॉर्ड भी दर्ज हुआ है। ऐसे में यह निश्चित हो गया है कि वैक्सीन पूरी रहने पर आसानी से लोगों को वैक्सीन की डोज देना संभव है।
देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अभी भी बरकरार है, हालांकि इसकी रफ्तार पहले के मुकाबले बहुत धीमी हो चुकी है। ऐसे में जोर- शोर से जारी टीकाकरण अभियान ही इस महामारी से बचने का एक विकल्प है। दो डोज में दी जाने वाली कोरोना वैक्सीन को लेकर एक्सपर्ट की मानें तो दोनों डोज के बीच गैप बढ़ाने से लोगों में कोविड-19 वेरिएंट्स से संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।
कोरोना को टक्कर देने के लिए वैक्सीन की दोनों डोज लेना आवश्यक
वेस्ट बंगाल मेडिकल काउंसिल के सदस्य डॉ. पी.के.नेमानी ने कहा कि वैक्सीन की दो खुराक लेना आवश्यक है। कोरोना के खिलाफ वैक्सीन अधिक कारगार हो इसके लिए जरूरी है कि वैक्सीन की दोनों डोज लोग निर्धारित समय पर लें। ऐसा कहा जाता है कि वैक्सीन की पहली खुराक एंटीबॉडीज प्रतिक्रिया का निर्माण करती है। इसके बाद दूसरी डोज प्रतिक्रिया को बनाती है और मेमोरी बी कोशिकाओं को भी उत्पन्न करती है, जो प्रतिक्रिया को याद रखती है। इसलिए वैक्सीन की दो खुराक लगने के बाद ही, उसे पूरी तरह से टीकाकरण माना जा सकता है।
राज्य में टीकाकरण इस प्रकार
कुल वैक्सीनेशन-5,07,50,316
पहली डोज-3,60,45,900
सेकेंड डोज-1,47,04,416

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ी खबरः फिर उबला भाटपाड़ा, समाज विरोधियाें ने लहराये हथियार, घायल किये लोगों को

भाटपाड़ा : भाटपाड़ा एक बार फिर उबला। यहां समाजविरोधियों ने हथियार लहराते हुए लोगों को घायल कर दिया। भाटपाड़ा थाना अंतर्गत मद्राल नेताजी मोड़ इलाके आगे पढ़ें »

ऊपर